चिदंबरम ने ईडी छापे को बताया हास्यास्पद, कहा- 'कुछ नहीं मिलने से शर्मसार थे अधिकारी'

Publisher NEWSWING DatePublished Sat, 01/13/2018 - 16:32

New Delhi : कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम ने उनके पुत्र के खिलाफ ईडी के छापों को आज शनिवार को हास्यास्पद बताया और दावा किया कि अधिकारी ‘‘शर्मसार’’ एवं खेद की मुद्रा में थे क्योंकि उन्हें कुछ नहीं मिला. प्रवर्तन निदेशालय ने एयरसेल-मैक्सिस मामले में धन शोधन के आरोपों पर चिदंबरम के पुत्र कार्ति से जुड़े विभिन्न ठिकानों पर छापे मार रहा है और कांग्रेस नेता की यह प्रक्रिया उसी सन्दर्भ में आयी है.

इसे भी पढ़ें- क्या अफसरों ने मुख्यमंत्री रघुवर दास को बकोरिया कांड के दोषियों की कतार में खड़ा कर दिया !

तलाशी को लेकर क्या कहा चिदंबरम ने

चिदंबरम ने कहा कि उन्होंने चेन्नई परिसर की जांच की है लेकिन त्रुटियों के कारण उत्पन्न हास्य (वाले मामले की तरह) में वे जोरबाग में मेरे परिसर की जांच करने चले आये. अधिकारियों ने मुझे बताया कि उनका मानना था कि कार्ति मकान में रहता है. मैंने उन्हें बताया कि वह चेन्नई में रहता है और मैं इस मकान में रहने वाला हूं. उन्होंने कहा कि चूंकि उनके पास तलाशी वारंट था, मैंने तलाशी पर कोई आपत्ति नहीं की किन्तु मैंने कहा कि मैं अपनी आपत्ति दर्ज करवाऊंगा कि सीबीआई सहित किसी भी जांच एजेंसी द्वारा किसी निर्धारित अपराध के लिए प्राथमिकी दर्ज नहीं की गयी.

इसे भी पढ़ें- झारखंड के शीर्ष दो अफसरों पर संगीन आरोप, विपक्ष कर रहा कार्रवाई की मांग, सरकार की हो रही फजीहत, रघुवर चुप

ईडी के पास पीएमएलए में कोई अधिकार क्षेत्र नहीं

उन्होंने कहा कि निश्चित तौर पर अपराध से कुछ हासिल नहीं था और ईडी के पास धन शोधन निरोधक कानून (पीएमएलए) में कोई अधिकार क्षेत्र नहीं है. पूर्व वित्त मंत्री ने कहा कि ईडी अधिकारियों ने रसोईघर और बाथरूम सहित सभी जगहों की तलाशी ली और उन्हें कुछ नहीं मिला. वे शर्मसार और खेद की मुद्र में हैं क्योंकि उन्होंने पाया कि मैं यहां रहता हूं तथा उनके पास तलाशी पूरी करने के अलावा और कोई चारा नहीं था. साथ ही उन्होंने कहा चूंकि उन्हें तलाशी को जायज ठहराना था इसलिए उन्होंने सरकार द्वारा 2012-13 में संसद में दिये गये बयान से संबंधित दस्तावेजों को पृष्ठभूमि बनाया. कांग्रेस ने कटाक्ष करते हुए कहा कि यदि उन्हें भविष्य में कुछ मिला तो मैं उन्हें बधाई दूंगा. ईडी का मामला तत्कालीन वित्त मंत्री पी चिदंबरम द्वारा 2006 में विदेशी निवेश संवर्धन बोर्ड की ओर से दी गयी मंजूरी के संबंध में है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

top story (position)
7ocean

 

international public school

 

TOP STORY

हजारीबाग डीसी तबादला मामला : देखें कैसे बीजेपी के जिला अध्यक्ष कर रहे हैं कन्फर्म  

न्यूज विंग की खबर का असर :  फर्जी  शिक्षक नियुक्ति मामले में तत्कालीन डीएसई दोषी करार 

बिजली बिल के डिजिटल पेमेंट से मिलता है कैशबैक, JBVNL नहीं शुरू कर पायी है डिजिटल पेमेंट की व्यवस्था

स्वीकार है भाजपा प्रदेश अध्यक्ष की खुली बहस वाली चुनौती : योगेंद्र प्रताप

लाठी के बल पर जनता की भावनाओं से खेल रही सरकार, पांच को विपक्ष का झारखंड बंद : हेमंत सोरेन   

सुप्रीम कोर्ट का आदेश : नहीं घटायी जायेंगी एमजीएम कॉलेज जमशेदपुर की मेडिकल सीट

मैट्रिक व इंटर में ही हो गये 2 लाख से ज्यादा बच्चे फेल, अभी तो आर्ट्स का रिजल्ट आना बाकी  

बीजेपी के किस एमपी को मिलेगा टिकट, किसका होगा पत्ता साफ? RSS बनायेगा भाजपा सांसदों का रिपोर्ट कार्ड

आतंकियों की आयी शामतः सीजफायर खत्म, ऑपरेशन ऑलआउट में दो आतंकी ढेर- सर्च ऑपरेशन जारी

दिल्ली: अनशन पर बैठे मंत्री सत्येंद्र जैन की बिगड़ी तबियत, आधी रात को अस्पताल में भर्ती

भूमि अधिग्रहण पर आजसू का झामुमो पर बड़ा हमला, मांगा पांच सवालों का जवाब