s4

 

चक्रधरपुर-झारसुगुड़ा रेलखंड पर फिर हुआ हादसा, मुंबई मेल की चपेट में आकर चार हाथियों की मौत

Publisher NEWSWING DatePublished Mon, 04/16/2018 - 14:57

Chakradharpur : चक्रधरपुर-झारसुगुड़ा रेलमंडल में हाथियों की ट्रेन से कटकर मरने का मामला नया नहीं है. इस रेल मंडल पर अक्सर इस तरह की घटना होते रहती है. वन जीव विशेषकर हाथियों की मौत ट्रेन से कट कर होने का शिलशिला बदस्तूर आज भी जारी है. इस दिशा में वन विभाग और रेल प्रशासन ने भी अब तक कोई ठोस पहल नहीं कर पाई है. सोमवार को हुये दुर्घटना में चार हाथियों की मौके पर ही मौत हो गई. इस दुर्घटना में मुंबई मेल दुर्घटनाग्रस्त होने से बाल-बाल बच गई. ट्रेन की चपेट में आने से मौके पर ही चार हाथियों ने दम तोड़ दिया. घटना बागडीही और पानपाली रेलवे स्टेशन के बीच की है.

घटना 16 अप्रैल सुबह की है, जब मुंबई मेल सोमवार को सुबह 3:40 मिनट पर 120 किलोमीटर की गति से चक्रधरपुर से झारसुगुड़ा की ओर जा रही थी. इन दोनों स्टेशन के बीच बागडीह स्टेशन के करीब हाथियों का झुंड मुंबई मेल से टकरा गई. जिसमें चार हाथियों की मौत हो गई.  इस दुर्घटना में तीन वयस्क हाथी के साथ एक हाथी का बच्चा भी शामिल था.

इसे भी पढ़ें - जिला प्रशासन ने ड्यूटी पर आये कर्मचारियों को नहीं दिया चुनाव खर्च, कहा – समझ लिजिये श्रमदान किया

मुंबई मेल से हुई थी हाथियों की टक्कर

रेल लाइन पर पड़ा हाथियों का शव
रेल लाइन पर पड़ा हाथियों का शव

जानकारी के अनुसार धुत्रा और बागडीह स्टेशन के बीच पोल संख्या 496/18 के समीप हाथियों का एक झुंड रेलवे लाइन से गुजर रही थी. उसी वक्त 120 किलोमीटर की रफ्तार से मुंबई मेल वहां से गुजरी, जिसकी चपेट में आकर चार हाथियों की मौके पर ही मौत हो गई. इस दुर्घटना के बाद लगभग 1 घंटे तक चक्रधरपुर-झारसुगुड़ा स्टेशन के बीच  ट्रेनों का परिचालन बंद रहा. रेलवे कर्मियों ने क्रेन के द्वारा रेल लाइन से हाथियों के शव को हटाया. जिसके बाद ट्रेनों का परिचालन शुरू हो सका. इस घटना की सूचना सबसे पहले चक्रधरपुर रेलवे स्टेशन को मिली. जिसके बाद घटना की सूचना झारसुगुड़ा रेल प्रबंधन को दी गई.

इसे भी पढ़ें - नगर निकाय चुनाव: अव्यवस्था का माहौल, कई बूथों के ईवीएम में गड़बड़ी की शिकायत  

वन विभाग ने घटना पर जताया दुख

घटना की सूचना पर वन विभाग के अधिकारी सोमवार की सुबह लगभग दस बजे घटना स्थल पर पहुंचे. मौके पर पहुंचे वन विभाग के अधिकारियों ने घटना पर दुख जताया. वहीं दूसरी ओर इस रेलखंड पर  हाथियों की मौत से आसपास के ग्रामीण भी नाराज हैं. दरअसल, बागडीही और पानपाली रेलवे स्टेशन के बीच काफी घना जंगल है. यह हाथी विचरण क्षेत्र में से एक है. बीती रात रेलवे ट्रैक के पास से हाथी जा रहे थे. ट्रेन आने पर हाथी रेलवे ट्रैक पर दौड़ने लगे, जिस कारण चारो हाथी ट्रेन की चपेट में आ गये और उनकी मौत हो गई. अब तक इस रूट पर लगभग दो दर्जन हाथी मारे जा चुके हैं. जिससे कई बार घंटों ट्रेनों का परिचालन ठप हो चुका है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलोभी कर सकते हैं.

o4

 

TOP STORY

कोलंबिया ने तोड़ा पोलैंड का दिल, कुआडराडो और मिना चमके

अवैध कोयला कारोबिरियों के लिये सेफ जोन बना झरिया-बलियापुर रोड

कश्मीर : भाजपा के विधायक पर पूर्व सैन्यकर्मी की बेटी का अपहरण करने का आरोप

जॉर्ज जोनास किडो का आरोप- पत्थलगड़ी समर्थकों को बदनाम करने के लिए रेप केस में डाला गया नाम

बड़े आंदोलन की सुगबुगाहट, ग्रामीण क्षेत्रों में पहुंचने लगी भूमि अधिग्रहण कानून के विरोध की आग

क्या 2019 चुनाव में मुख्यमंत्री रघुवर दास नहीं मांगेगे वोट !

बिहार के माथे पर एक और कलंक, चपरासी ने 8,000 रुपये में कबाड़ी को बेची थी 10वीं परीक्षा की कॉपियां

स्वच्छता में रांची को मिले सम्मान पर भाजपा सांसद ने ही उठाये सवाल, कहा – अच्छी नहीं है कचरा डंपिंग की व्यवस्था

तो क्या ऐसे 100 सीटें बढ़ायेगा रिम्स, न हॉस्टल बनकर तैयार, न सुरक्षा का कोई इंतजाम, निधि खरे ने भी लगायी फटकार

पत्थलगड़ी समर्थकों ने किया दुष्कर्म, फादर सहित दो गिरफ्तार, जांच जारीः एडीजी

स्वच्छता सर्वेक्षण की सिटीजन फीडबैक कैटेगरी में रांची को फर्स्ट पोजीशन, केंद्रीय मंत्री ने किया पुरस्कृत