केवल कोहली को देखकर काफी कुछ सीख सकता हूं : मार्कराम

Publisher NEWSWING DatePublished Sat, 02/17/2018 - 13:10

Centurion : अकेले दम पर अपनी टीम को जीत की राह पर लौटाना और गलतियों के लिये खुद को कोसना उन पहलुओं में शामिल हैं जो दक्षिण अफ्रीकी कप्तान एडेन मार्कराम भारतीय कप्तान विराट कोहली से सीखना चाहते हैं. मार्कराम ने देखा कि कोहली ने खुद बेहतरीन प्रदर्शन किया जिससे भारत ने दक्षिण अफ्रीका को छह मैचों की वनडे श्रृंखला में 5-1 से हराया. कोहली ने श्रृंखला में तीन शतकों और एक अर्धशतक की मदद से 558 रन बनाये.

छोटी-छोटी चीजें सीख रहा हूं

मार्कराम ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि कोहली अपनी टीम को मैच जिताने के लिये बेताब रहते हैं और इसलिए वह अपनी गलतियों के लिये खुद को कोसते हैं. यह सब प्रतिस्पर्धी नजरिये से है और इसमें कुछ भी दुर्भावना नहीं होती है. जब वह बल्लेबाजी करता है तब यह बेताबी दिखती है. वह टीम को केवल जीत के करीब नहीं पहुंचाना चाहता बल्कि वह जीतना चाहता है. दक्षिण अफ्रीका के युवा कप्तान ने कहा कि इसलिए मैं उनसे (कोहली) काफी चीजें सीख सकता हूं. उनकी पूरी टीम और अपनी टीम से मैं काफी चीजें सीख सकता हूं. मैं इधर-उधर से छोटी-छोटी चीजें सीख रहा हूं. मार्कराम को यह कहने में कोई हिचकिचाहट नहीं कि दोनों टीमों के बीच कोहली ने सबसे बड़ा अंतर पैदा किया.

इसे भी पढ़ें: विराट कोहली के शतक के आगे ढेर हुआ साउथ अफ्रीका, भारत ने 5-1 से सीरीज जीतकर रचा इतिहास

इसे भी पढ़ें:  IPL 2018 : 11वें सीजन के आगाज मैच में भिड़ेगी मुंबई इंडियंस और चेन्नई सुपरकिंग्स, 27 मई को फाइनल

कोहली का रनों की भूख और मैच के परिणाम को अपने पक्ष में करने की बेताबी का कोई जवाब नहीं है

उन्होंने कहा कि उसने बहुत बड़ा अंतर पैदा किया. वह वास्तव में बेहतरीन फार्म में है और उसने दिखाया. उसकी रनों की भूख और मैच के परिणाम को अपने पक्ष में करने की बेताबी का कोई जवाब नहीं है और इसलिए वह दुनिया के सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाजों में से एक है. मार्कराम ने कहा कि उसने (कोहली) बहुत अंतर पैदा किया और उनके स्पिनरों ने भी अहम भूमिका निभायी. लेकिन कोहली के लिये यह शानदार श्रृंखला रही और जो श्रेय का हकदार है उसे वह दिया जाना चाहिए. मार्कराम से पूछा गया कि क्या इतने बड़े अंतर से हारना शर्मनाक है, उन्होंने कहा कि शर्मनाक काफी कड़ा शब्द है. निश्चित तौर पर हम वैसा प्रदर्शन नहीं कर पाये जैसा कि हम चाहते थे. एक टीम के तौर पर हम वास्तव में निराश हैं. मैं यह नहीं कहना चाहूंगा कि हम शर्मिंदा हैं. उन्होंने कहा कि हमें पता था कि वनडे श्रृंखला कड़ी होगी. मैं इसके लिये तैयार था और मैंने इस चुनौती का लुत्फ उठाया. मैं श्रृंखला 5-1 से गंवाने के बावजूद यहां बैठकर यह कह सकता हूं. यह एक जिम्मेदारी थी जिसका मैंने लुत्फ उठाया. मैंने अपने करियर के इस चरण में काफी कुछ सीखा और यह बुरी चीज नहीं है.

इसे भी पढ़ें: IPL 2018 : सात अप्रैल से शुरू होगा क्रिकेट का महासंग्राम, जानिये कब और कहां भिड़ेंगी टीमें

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

7ocean

 

international public school

 

TOP STORY

बिहार के माथे पर एक और कलंक, चपरासी ने 8,000 रुपये में कबाड़ी को बेची थी 10वीं परीक्षा की कॉपियां

स्वच्छता में रांची को मिले सम्मान पर भाजपा सांसद ने ही उठाये सवाल, कहा – अच्छी नहीं है कचरा डंपिंग की व्यवस्था

तो क्या ऐसे 100 सीटें बढ़ायेगा रिम्स, न हॉस्टल बनकर तैयार, न सुरक्षा का कोई इंतजाम, निधि खरे ने भी लगायी फटकार

पत्थलगड़ी समर्थकों ने किया दुष्कर्म, फादर सहित दो गिरफ्तार, जांच जारीः एडीजी

स्वच्छता सर्वेक्षण की सिटीजन फीडबैक कैटेगरी में रांची को फर्स्ट पोजीशन, केंद्रीय मंत्री ने किया पुरस्कृत

J&K: बीजेपी विधायक की पत्रकारों को धमकी, कहा- खींचे अपनी एक लाइन

दुनिया की सबसे बड़ी ऑनलाइन मेगा परीक्षा कराने जा रही है रेलवे, डेढ़ लाख लोगों को मिलेगा रोजगार

“महिला सिपाही पिंकी का यौन शोषण करने वाले आरोपी को एसपी जया रॉय ने बचाया, बर्खास्त करें”

यूपीः भीषण सड़क हादसे में एक ही परिवार के पांच लोगों की मौत

सरकार जमीन अधिग्रहण करेगी और व्यापक जनहित नाम पर जमीन का उपयोग पूंजीपति करेगें : रश्मि कात्यायन

16 अधिकारियों का तबादला, अनिश गुप्ता बने रांची के एसएसपी, कुलदीप द्विवेदी गए चाईबासा