बंगला खाली कराने के आदेश पर भड़के राजद नेता, तेजस्वी ने कहा- सरकार हमको नेता प्रतिपक्ष नहीं मानती

Publisher ADMIN DatePublished Sat, 04/21/2018 - 17:29

Patna : पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव, पूर्व मंत्री अब्दुलबारी सिद्दिकी समेत राजद कोटे के छह पूर्व मंत्रियों को सरकारी बंगला खाली करने का आदेश' जारी किया गया है. सरकारी बंगला खाली करने के आदेश के बाद राजद नेताओं ने सरकार पर हमला बोला है. उन्होंने सरकार पर राजनीति से प्रेरित कार्रवाई करने का आरोप लगाया है. इससे पहले पूर्व मंत्री तेज प्रताप यादव ने 30 जनवरी को ही बंगला खाली कर दिया था. राजद नेताओं का कहना है कि सरकार भेदभाव कर रही है. राजद विधायक शक्ति सिंह यादव का कहना है कि पांच देशरत्न मार्ग बिहार सरकार के कैबिनेट मंत्री को आवंटित होता है. तेजस्वी यादव को भी कैबिनेट मंत्री का दर्जा प्राप्त है, ऐसे में उनसे ये बंगला खाली कराने का सरकार का फैसला गलत है.

उनका कहना है कि मुख्यमंत्री के संज्ञान में उक्त मामला है या नहीं यह देखने वाली बात है. मुख्यमंत्री का ध्यान आकृष्ट कराते हुये शक्ति सिंह यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री को अधिकारियों के आदेश को देखना चाहिए, अधिकारी क्या आदेश जारी कर रहे हैं, सरकार को इसपर संज्ञान लेना चाहिए. उन्होंने कहा कि राजद सुप्रीमो लालू यादव के यहां शादी की तैयारी चल रही है, मुख्यमंत्री को अपना निर्णय वापस लेना होगा.

तेजस्वी ने सरकार पर बोला हमला, कहा- मेरा भी स्टेटस कैबिनेट मिनिस्टर जैसा है

 बंगला खाली कराने को लेकर तेजस्वी ने सरकार पर हमला बोला है. तेजस्वी का कहना है कि सरकार उनको नेता प्रतिपक्ष नहीं मानती. तेजस्वी ने कहा कि सरकार ने आज तक उनके एक भी सवाल का जवाब नहीं दिया. मुझे जो पत्र भेजा जाता है वह पूर्व मंत्री  के नाम से पत्र भेजा जाता है. उन्होंने कहा कि नेता प्रतिपक्ष के नाते मेरा भी स्टेटस कैबिनेट मिनिस्टर जैसा है. नेता प्रतिपक्ष के नाते मेरी भी अपनी पहचान है.

इसे भी पढ़ें:  बीजेपी नेता यशवंत सिन्हा के बागी तेवर- 21 अप्रैल को विपक्षी पार्टियों के साथ करेंगे कार्यक्रम, बड़ी राजनीतिक घोषणा की संभावना

तेजस्वी का आवास सुशील मोदी को आवंटित करना है

उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी को तेजस्वी के सरकारी बंगले को आवंटित करना है, इसलिए 10 अप्रैल को निर्माण विभाग ने तेजस्वी को सरकारी बंगला खाली करने का नोटिस दिया था. इसके अलावा भवन निर्माण विभाग ने पटना के एसपी और डीएम को नेता विरोधी दल के अलावा राबड़ी देवी के होने वाले समधी पूर्व मंत्री चंद्रिका राय का भी आवास बल पूर्वक खाली करने को लेकर पत्र लिखा है. वह वर्तमान में 5 सर्कुलर रोड में रह रहे हैं. 25 हार्डिंग रोड को पूर्व मंत्री अब्दुल बारी सिद्दीकी से खाली कराना है. शिवचन्द्र राम से 12 स्ट्रैंड रोड, पूर्व मंत्री चन्द्रशेखर से 16/ए बेली रोड , आलोक मेहता से 6 स्ट्रैंड रोड खाली कराने का आदेश दिया गया है.

इसे भी पढ़ें: अब निलंबित SSP विवेक कुमार के ससुराल में विजिलेंस की छापेमारी, करोड़ों के फिक्स डिपॉजिट और लाखों के गहने बरामद

भवन निर्माण विभाग ने आवास खाली कराने की तिथि नहीं तय की है

आवास खाली कराने के मामले में डीएम कुमार रवि का कहना है कि बंगला खाली कराने की तिथि घोषित करने का अधिकार भवन निर्माण विभाग को है. विभाग सारी तैयारी कर हमें अवगत करायेगा. उन्होंने कहा कि अभी तक हमे ऐसा कोई पत्र नहीं मिला है. पत्र मिलने के बाद कानून-व्यवस्था को देखते हुये आगे की कार्रवाई की जायेगी.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.