बिहार विधान परिषद चुनाव : अंतिम दिन जदयू, कांग्रेस व बीजेपी उम्मीदवारों ने किये नामांकन, सीएम नीतीश ने भी भरा पर्चा

Publisher NEWSWING DatePublished Mon, 04/16/2018 - 15:22

Patna : बिहार विधान परिषद के चुनाव में 11 सीट के लिए 11 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं. यानी सभी की जीत पक्की. सोमवार को नामांकन के आखिरी दिन जदयू, भाजपा और कांग्रेस के उम्मीदवारों ने नामांकन किया. उनके नाम की घोषणा रविवार को ही कर दी गई थी. राजद के उम्मीदवारों ने शुक्रवार को ही नामांकन दाखिल कर दिया था.

11 सीट के लिए 11 उम्मीवार मैदान में हैं, वर्तमान स्थिति के अनुसार चुनाव की नौबत की नहीं आयेगी. सभी उम्मीदवारों की निर्विरोध जीत तय मानी जा रही है. नामांकन पत्रों की जांच के बाद उम्मीदवारों की जीत की घोषणा की जा सकती है.

इसे भी पढ़ें - बिहार विधान परिषद के चुनाव में निर्विरोध चुने जा सकते हैं सभी प्रत्याशी, जानिये कैसे

इन्‍होंने दाखिल किया पर्चा 

जदयू ने पूर्व एमएलसी संजय सिंह व चंदेश्वर प्रसाद का टिकट काटते हुये अपने कोटे की तीन सीटों के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, रामेश्वर महतो, खालिद अनवर को उम्मीदवार बनाया है. भाजपा ने उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी, स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय और पूर्व केंद्रीय मंत्री संजय पासवान को प्रत्याशी बनाया है. संजय पासवान मात्र एक दलित उम्मीदवार हैं. कांग्रेस ने अपनी एकमात्र सीट के लिए प्रेमचंद मिश्रा को उम्मीदवार बनाया है. उन्‍होंने सोमवार को पर्चा दाखिल किया.

राजद के तीन व पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी के बेटे ने हम पार्टी से पहले ही पर्चा भर दिया था. राजद से राबड़ी देवी, रामचंद्र पूर्वे व सैयद खुर्शीद मोहसीन शामिल हैं. वहीं हम पार्टी से पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी के पुत्र संतोष मांझी को राजद का समर्थन मिला है. 

इसे भी पढ़ें - केंद्र सरकार के सहयोगी पार्टी के दो केंद्रीय मंत्रियों ने अपर ज्यूडिशरी में मांगा आरक्षण, सरकार की मुश्किलें बढ़ी

पर्चा दाखिल करने के बाद प्रेमचंद मिश्र के बदले सुर

कांग्रेस से एक मात्र उम्मीदवार प्रेमचंद मिश्र ने पर्चा भरने के बाद कहा कि वे एमएलसी के रूप में जनहित में बेहतर काम करेंगे. उन्‍होंने कहा कि महागठबंधन एकजुट है और अगले चुनाव में महागठबंधन की सरकार बनेगी.

सभी दलों ने सभी समुदाय को साथ लेकर चलने का प्रयास किया

विधान परिषद चुनाव में सभी दलों ने सभी समुदाय को साथ लेकर चलने का प्रयास किया है. जदयू ने वर्तमान एमएलसी संजय सिंह, चंदेश्वर चंद्रवंशी का पत्ता काटते हुये दो नये चेहरे को टिकट दिया है. सीतामढ़ी के रामेश्वर महतो को जो कुशवाहा समाज से आते हैं, जबकि अल्पसंख्यक वर्ग से खालिद अनवर को टिकट दिया है. खालिद अनवर एक उर्दू अखबार के मालिक भी हैं. भाजपा ने बिहार में एससी/एसटी एक्ट को लेकर जारी घमासान के बीच पूर्व केंद्रीय मंत्री संजय पासवान को प्रत्याशी बनाया है.

 न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं. 

7ocean

 

international public school

 

TOP STORY

हजारीबाग डीसी तबादला मामला : देखें कैसे बीजेपी के जिला अध्यक्ष कर रहे हैं कन्फर्म  

न्यूज विंग की खबर का असर :  फर्जी  शिक्षक नियुक्ति मामले में तत्कालीन डीएसई दोषी करार 

बिजली बिल के डिजिटल पेमेंट से मिलता है कैशबैक, JBVNL नहीं शुरू कर पायी है डिजिटल पेमेंट की व्यवस्था

स्वीकार है भाजपा प्रदेश अध्यक्ष की खुली बहस वाली चुनौती : योगेंद्र प्रताप

लाठी के बल पर जनता की भावनाओं से खेल रही सरकार, पांच को विपक्ष का झारखंड बंद : हेमंत सोरेन   

सुप्रीम कोर्ट का आदेश : नहीं घटायी जायेंगी एमजीएम कॉलेज जमशेदपुर की मेडिकल सीट

मैट्रिक व इंटर में ही हो गये 2 लाख से ज्यादा बच्चे फेल, अभी तो आर्ट्स का रिजल्ट आना बाकी  

बीजेपी के किस एमपी को मिलेगा टिकट, किसका होगा पत्ता साफ? RSS बनायेगा भाजपा सांसदों का रिपोर्ट कार्ड

आतंकियों की आयी शामतः सीजफायर खत्म, ऑपरेशन ऑलआउट में दो आतंकी ढेर- सर्च ऑपरेशन जारी

दिल्ली: अनशन पर बैठे मंत्री सत्येंद्र जैन की बिगड़ी तबियत, आधी रात को अस्पताल में भर्ती

भूमि अधिग्रहण पर आजसू का झामुमो पर बड़ा हमला, मांगा पांच सवालों का जवाब