बिहार : एसएसबी के हत्थे चढ़ा मानव तस्कर, पांच नाबालिगों को कराया रिहा

Publisher NEWSWING DatePublished Mon, 01/22/2018 - 10:00

Araria : बिहार के अररिया जिला के जोगबनी रेलवे स्टेशन से सशस्त्र सीमा बाल (एसएसबी) के जवानों ने रविवार को पांच बच्चों को तस्करों के चंगुल से रिहा कराते हुए एक तस्कर को धर दबोचा. एसएसबी की 56 वीं बटालियन के कमांडेंट मुकेश त्यागी ने बताया कि गुप्त सूचना के आधार पर जोगबनी रेलवे स्टेशन से पांच बच्चों को तस्करों के चंगुल से रिहा कराते हुए एक तस्कर को गिरफ्तार किया गया है.

इसे भी पढ़ें- सीआइडी ने कोर्ट को झूठ कहा है कि इंस्पेक्टर हरीश पाठक ने  NHRC को क्या बयान दिया, जानकारी नहीं

रिहा कराये सभी बच्चे नाबालिग

त्यागी ने बताया कि इन बच्चों की तस्करी के आरोप में गिरफ्तार व्यक्ति का नाम मोहम्मद नईम है जो कि पूर्णिया के जोकिहाट थाना अंतर्गत बागड़ारा गांव का निवासी है. उन्होंने बताया कि रिहा कराए गए बच्चे बालक हैं और उनकी उम्र 15 साल से कम है. त्यागी ने बताया कि पूछताछ के दौरान बच्चों ने बताया कि नईम उन्हें काम करने के लिए दिल्ली ले जा रहा था.

इसे भी पढ़ें- सुनिये माननीय, पूर्व विधायक आपके बारे में क्या कह रहे हैं...

क्या है मानव तस्करी

नशीली दवाओं और हथियारों के कारोबार के बाद मानव तस्करी विश्व भर में तीसरा सबसे बड़ा संगठित अपराध है. मानव तस्करी भारत की प्रमुख समस्याओं में से एक है. इसमें कोई दो राह नहीं कि मानव तस्करी भारत में मानव तस्करी की स्थिति काफि गंभीर है. गैर कानूनी होते हुए भी मानव तस्करी भारत के लिए एक चिंता का विषय बना हुआ है. शारीरिक शोषण, बंधुआ मजदूर से लेकर देह व्यापार के लिये मानव तस्करी की जाती है. अत्यधिक गरीबी, शिक्षा की कमी और सरकारी नीतियों का ठीक से लागू नहीं होना ही लोगों के लिए मानव तस्करी का शिकार होने का बड़ा कारण माना जा सकता है. यह एक ऐसे समस्या है जिसपर जल्द काबू पाना बहुत जरूरी है. क्योंकि अगर ऐसा नहीं किया गया तो आने वाले दिनों में इसकी स्थिति और भी खराब होती चली जायेगी.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

loading...
Loading...

NEWSWING VIDEO PLAYLIST (YOUTUBE VIDEO CHANNEL)