बिहार : 'मोदी चौक' के नाम पर बवाल, बीजेपी कार्यकर्ता के पिता की बेरहमी से हत्या

Publisher NEWSWING DatePublished Sat, 03/17/2018 - 09:07

Darbhanga:  बिहार के दरभंगा जिला के सदर थाना अंतर्गत भदावन गांव में एक चौक का नामकरण प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम पर रखे जाने को लेकर कथित तौर पर हुए विवाद में एक स्थानीय भाजपा कार्यकर्ता के वृद्ध पिता की गुरुवार की रात धारदार हथियार से हत्या कर दी गयी तथा मृतक के पुत्र को जख्मी कर दिया.

रामचंद्र के पुत्र भी हुए घायल

हालांकि पुलिस ने 65 वर्षीय रामचंद्र यादव की हत्या "व्यक्तिगत शत्रुता" को लेकर किए जाने का दावा किया है. इस हमले में घायल रामचंद्र के पुत्र और भाजपा कार्यकर्ता कमलेश यादव को इलाज के लिए दरभंगा मेडिकल कालेज अस्पताल में भर्ती कराया गया है. उन्होंने  संवाददाताओं से बातचीत के दौरान बताया कि दो साल पहले उक्त चौक का नाम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम पर रखा गया था, जिसका स्थानीय राजद समर्थकों ने विरोध करते हुए नामकरण पट्टिका हटाने की कोशिश की .
 

इसे भी पढ़ें: गोरक्षा के नाम पर रामगढ़ में हुई अलीमुद्दीन हत्याकांड में आठ आरोपी दोषी करार

20 से 25 की संख्या में थे हमलावर

उन्होंने आरोप लगाया कि राजद समर्थकों ने हाल में संपन्न उपचुनाव के दौरान एक लोकसभा और एक विधानसभा सीट पर हुई जीत के मद्देनजर इस चौक का नाम पार्टी प्रमुख लालू प्रसाद के नाम पर रखने की कोशिश की. कमलेश ने कहा कि उनके द्वारा इसका विरोध करने पर वे उस समय तो वहां से चले गए, लेकिन गुरुवार की देर रात 20 से 25 की संख्या में मोटरसाइकिल पर सवार होकर उनके घर पहुंचे राजद समर्थकों ने उनके पिता और उनपर पर धारदार हथियार से हमला कर दिया जिसमें रामचंद्र की मौत हो गयी जबकि वह घायल हो गए .
 

इसे भी पढ़ें:  पीएनबी धोखाधड़ी मामला : केन्द्र ने कोर्ट को बताया, अदालतों द्वारा कोई समानांतर जांच नहीं हो सकती

व्यक्तिगत दुश्मनी में की गयी हत्या

अपर पुलिस अधीक्षक दिलनवाज अहमद ने बताया कि हमलावरों की कमलेश और उनके परिवार के साथ व्यक्तिगत दुश्मनी थी. हमें चौक के नाम पर किसी विवाद की सूचना नहीं है, फिर भी हर पहलू से मामले की जांच की जा रही है. जिले के स्थानीय भाजपा कार्यकर्ताओं ने भी इस वारदात के खिलाफशुक्रवार को  दरभंगा शहर में विरोध प्रदर्शन किया और सड़क को करीब एक घंटे तक अवरुद्ध किए रखा. बाद में दोषी लोगों के खिलाफ उचित कार्रवाई का आश्वासन मिलने के बाद उक्त सड़क पर यातायात बहाल हो पाया. इस बीच भाजपा प्रवक्ता राजीव रंजन ने आरोप लगाया कि ऐसी घटनाएं राजद के गुंडागर्दी और भ्रष्टाचार में विश्वास को प्रदर्शित करती है. राजद इस उपचुनाव में अपनी दोनों सीटों पर फिर से जीत हासिल करने में कामयाब रही, पर इसके जरिए वह बिहार की जनता के मन में अपना दहशत फिर से कायम करना चाहती है.

  न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

 

loading...
Loading...