आधार कार्ड : प्राइवेसी को सुरक्षित रखने लिए होगा टू-लेयर सिक्यूरिटी सिस्टम, मिलेगा वर्चुअल आईडी कार्ड

Submitted by NEWSWING on Wed, 01/10/2018 - 19:04

New Delhi : आधार कार्ड डेटा लीक होने की खबरों के आने के बाद यूनिक आइडेंटिफिकेशन अॉथोरिटी अॉफ इंडिया (यूआइडीएआई) ने बुधवार को कहा है कि जल्द ही नया टू-लेयर सेफ्टी सिस्टम शुरु किया जायेगा. इसके तहत आधार कार्डधारी को वर्चुअल आईडी दिया जायेगा और लिमिटेड केवाईसी जारी किया जा रहा है. इस सिस्टम के आने के बाद आधार कार्डधारी की प्राइवेसी पहले से ज्यादा बेहतर हो जायेगी. यह कदम ऐसे वक्त उठाया गया है जब  आरबीआई के सहयोग से तैयार किये रिसर्च नोट में आधार को लेकर कुछ गंभीर चिताएं जाहिर की गई हैं. 

वर्चुअल आईडी आने के बाद किसी भी व्यक्ति को अपना आधार कार्ड नंबर नहीं बताना पड़ेगा. पहचान के लिए वर्चुअल आईडी का नंबर ही बताना होगा. इस कारण आधार नंबर बताने की जरुरत ही नहीं पड़ेगी. वर्चुअल आईडी 16 अंकों वाली संख्या होगी. जिसका इस्तेमाल आधार नंबर के बदले किया जायेगा. आधार कार्ड की मांग करने वाली सभी एजेंसियां एक जून तक इस नए सिस्टम को लागू करेगी. हालांकि यह सिस्टम एक मार्च से चालू हो जायेगा. 

एजेंसियों के लिए है लिमिटेड केवाईसी 
लिमिटेड केवाईसी सिस्टम आधार यूजर्स के लिए नहीं बल्कि एजेंसियों के लिए है. एजेंसियां केवाईसी के लिए लोगों का आधार डिटेल लेती हैं और उसे अपने सिस्टम में स्टोर करती है.  लिमिटेड केवाईसी सुविधा के बाद अब एजेंसियां लोगों के आधार नंबर को स्टोर नहीं कर सकेंगी. इस सुविधा के तहत एजेंसियों को बिना आपके आधार नंबर पर निर्भर हुए अपना खुद का केवाईसी करने की इजाजत होगी. एजेंसियां टोकनों के जरिए यूजर्स की पहचान करेंगी. केवाईसी के लिए आधार की जरूरत कम होने पर उन एजेंसियों की तादाद भी घट जाएगी. जिनके पास आपके आधार की डिटेल होगी. 

इसे भी पढ़ें : केंद्रीय विद्यालयों में होने वाली प्रार्थना हिंदुत्व को बढ़ावा तो नहीं, सुप्रीम कोर्ट ने सरकार से मांगा जवाब

Top Story
loading...
Loading...