Skip to content Skip to navigation

न्यूज विंग के जागरूक पाठक अपनी समस्या, अपने आस-पास हो रही अनियमितता की तस्वीर या कोई अन्य खबर फोटो के साथ वाहट्सएप नंबर - 8709221039 पर भेजे. हम उसे यहां प्रकाशित करेंगे.

रामगढ़ः दामोदर नदी पार करने के 50 रुपये की शर्त में गयी एक व्यक्ति की जान

बड़ा व छोटा भाई समझाते रहे, दामोदर नदी में कुद गया मंझला भाई

दामोदर नदी के बीचो-बीच तड़पता रहा, देखते रहे लोग

NEWSWING

Ramgarh, 12 November : आज-कल के इंसान अपनी अहमियत पूरी तरह भूल गया है. उसे यह भी चिंता नहीं है कि हमारे पीछे व आगे कितने लोग हैं जो हमारी वजह से जिंदा व खुशहाल है. बड़े बजुर्गों ने सही कहा है कि अगर किसी की मौत आती है तो वो मौत की ओर खिंचा चला जाता है. यह कहावत बिल्कुल सही साबित हुई. बरकाकाना फिल्टर हाउस बाजार निवासी 45 वर्षीय गौतम साव पिता स्व. रामेश्वर साव की मौत कुछ इसी अंदाज में दामोदर नदी में डूबने से हो गयी. जानकारी के अनुसार रविवार को गौतम साव के पड़ोस में जमुना प्रसाद की मौत हो गई. जिसका अंतिम संस्कार करने के लिये रविवार को दामोदर नदी के आस-पास के कई लोग पहुंचे थे.

50 रूपये में लगी थी नदी पार करने की शर्त

इसी दौरान चिता जल ही रही थी कि गौतम साव का एक दोस्त श्याम बिहारी ने उससे शर्त रखी कि अगर तुम इस पार से उस पार हो जाओगे तो 50 रूपया देंगे. इसी शर्त के बाद गौतम ने अपना आपा खो दिया. तब उसके बड़े भाई सुरेश साव व छोटे भाई अनिल साव के समझाने के बाद गौतम शांत हो गया. लेकिन जिसकी मौत आती है तो वे किसी की कहां सुनता है. इधर गौतम ने मौका देखा और अपने दोस्त रामू के साथ नदी के उस पार जाने के लिये कुद गया. इसी दौरान रामू आधे रास्ते से अपनी जान बचाकर वापस आ गया. लेकिन गौतम ने आधा से ज्यादा रास्ता पार कर चुका था. इसी दौरान गौतम ने अपनी तैरने की क्षमता खो दी. बचाओ-बचाओ चिल्लाने लगा और डुब गया. घटना की सूचना पकार मौके पर पुलिस पहुंच गयी. रामगढ़ थाना प्रभारी सह इंस्पेक्टर राजेश कुमार ने गोताखोर को बुलवाया. समाचार लिखे जाने तक गौतम का शव नहीं मिल पाया था.  

Top Story
City List: 
Share

Add new comment

loading...