Skip to content Skip to navigation

न्यूज विंग के जागरूक पाठक अपनी समस्या, अपने आस-पास हो रही अनियमितता की तस्वीर या कोई अन्य खबर फोटो के साथ वाहट्सएप नंबर - 8709221039 पर भेजे. हम उसे यहां प्रकाशित करेंगे.

स्पाइसजेट, टाइगरएयर में समझौता

हैदराबाद: देश की किफायती विमानन कंपनी स्पाइसजेट और सिंगापुर की सबसे बड़ी किफायती विमानन कंपनी टाइगरएयर के बीच तीन साल का अंतरलाइन समझौता हुआ है। इस समझौते से दोनों विमानन कंपनियों द्वारा संचालित की जाने वाली उड़ानों में बेहतर संपर्क स्थापित होगा। स्पाइसजेट द्वारा सोमवार को जारी बयान के मुताबिक देश में किफायती विमानन कंपनी द्वारा इस तरह का यह पहला समझौता है।

समझौते के तहत छह जनवरी 2014 से देश के 14 शहरों से स्पाइसजेट की उड़ान पकड़ने वाले यात्रियों का हैदराबाद के राजीव गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डे के जरिए टाइगरएयर की सिंगापुर जाने वाली उड़ानों के साथ निर्बाध संपर्क स्थापित हो जाएगा।

14 शहरों में शामिल हैं अहमदाबाद, भोपाल, चेन्नई, कोलकाता, कोयम्बटूर, दिल्ली, पणजी, इंदौर, मंगलोर, मदुरै, पुणे, बेंगलुरू, तिरुपति और विशाखापट्टनम।

समझौते के तहत शुरुआती किराया प्रचार के तौर पर एक ओर का 4,699 रुपये न्यूनतम रखा गया है, जबकि शुरुआती वापसी किराया 9,998 रुपये न्यूनतम रखा गया है।

12 जनवरी, 2014 से टाइगरएयर के यात्रियों को भी देश में 14 गंतव्यों के लिए स्पाइसजेट की उड़ानों में यही सुविधा मिल जाएगी।

हैदराबाद का राजीव गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डा दोनों विमानन कंपनियों की उड़ानों को संपर्क सुविधा देने वाला पहला हवाईअड्डा होगा। एक विमानन कंपनी की उड़ानों के जांच किए हुए सामानों को दूसरे विमानन कंपनी की उड़ान में स्थानांतरित करने की मुफ्त सुविधा देगा।

दोनों विमानन कंपनियों के अधिकारियों ने यहां जीएमआर हैदराबाद अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डा लिमिटेड (जीएचआईएएल) के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एस.जी.के. किशोर की मौजूदगी में समझौते की घोषणा की।

स्पाइसजेट लिमिटेड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी संजीव कपूर ने कहा, "इस साझेदारी से भारत और सिंगापुर के यात्रियों को अत्यधिक फायदा होगा।"

टाइगरएयर के समूह मुख्य वाणिज्यिक अधिकारी अलेक्जेंडर निगे ने कहा, "भारत हमारे प्रमुख बाजारों में से एक है और हम स्पाइसजेट के साथ इस अंतरलाइन साझेदारी से हम यहां अपनी मौजूदगी का विस्तार करने के लिए उत्साहित हैं।"

कपूर ने कहा कि स्पाइसजेट कुछ और अंतर्राष्ट्रीय विमानन कंपनियों के साथ इसी तरह का अंतरलाइन समझौता करना चाहती है।

किशोर ने कहा, "हमें एक अंतरलाइन उत्पाद का निर्माण करने के लिए स्पाइसजेट और टाइगरएयर को एक दूसरे के समीप लाने में उत्प्रेरक बनने की खुशी है। यह यात्रियों, दोनों विमानन कंपनियों आर हैदराबाद हवाईअड्डे के लिए अत्यधिक फायदेमंद होगा।"

टाइगरएयर हैदराबाद और सिंगापुर के बीच हर सप्ताह पांच उड़ानों का संचालन करती है।

Top Story
Share
loading...