Skip to content Skip to navigation

न्यूज विंग के जागरूक पाठक अपनी समस्या, अपने आस-पास हो रही अनियमितता की तस्वीर या कोई अन्य खबर फोटो के साथ वाहट्सएप नंबर - 8709221039 पर भेजे. हम उसे यहां प्रकाशित करेंगे.

भारत-अमेरिका व्यापार में विकास की असीम संभावनाएं

वाशिंगटन: अमेरिकी व्यापार और उद्योग प्रतिनिधि इस बात से सहमत हैं कि भारत-अमेरिका के बीच व्यापार में विकास, विशेषकर रोजगार सृजन की अपार संभावनाएं हैं।

गुरुवार को अमेरिकी प्रतिनिधि सभा की एकमात्र भारतीय अमेरिकी सदस्य एमी बेरा की मेजबानी में अमेरिका-भारत व्यापार परिषद (यूएसआईबीसी) और भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई) के सदस्यों के लिए आयोजित गोलमेज बैठक में यह बात आम सहमति से बाहर आई।

बेरा के कार्यालय से जारी बयान के मुताबिक, गोलमेज में प्रौद्योगिकी, विनिर्माण, कृषि, खुदरा, सुविधा सहित विभिन्न उद्योगों के 40 से अधिक प्रतिनिधियों ने भाग लिया।

बेरा ने कहा, "दुनिया के सबसे बड़े और पुराने लोकतंत्र के तौर पर भारत और अमेरिका स्वाभाविक सहयोगी हैं।"

बेरा, हाउस फॉरेन अफेयर्स कमेटी की सदस्य भी हैं। उन्होंने हाल ही में भारत का दौरा भी किया है।

बेरा ने कहा, "हमारी आर्थिक साझेदारी और व्यापार संबंधों के विकास के लिए हमारे देशों को एक साथ काम करते रहना चाहिए।"

यूएसआईबीसी के सहायक उपाध्यक्ष डायने फैरेल ने कहा, "सभी इस बात से सहमत हैं कि दोनों देशों में विकास और खासतौर से रोजगार सृजन की अपार संभावना है और अमेरिकी और भारतीय सरकारें मजबूत द्विपक्षीय व्यापार के लिए प्रतिबद्ध हैं।"

सीआईआई-उत्तर अमेरिका की प्रमुख और निदेशक संध्या सतवादी ने कहा, "पिछले दो दशकों में भारत और अमेरिका की भागीदारी में मौलिक परिवर्तन आया है।"

उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य, स्वच्छ ऊर्जा, रक्षा, बुनियादी सुविधाओं और कृषि जैसे सेक्टरों में तमाम अवसर पैदा हो रहे हैं जिन पर दोनों तरफ से ध्यान देने और कार्य करने की जरूरत है। -अरुण कुमार

Top Story
Share
loading...