aq

 

TODAY'S NW TOP NEWS

ट्रंप का परमाणु बटन दबाने की डींग 'पागल कुत्ते के भोंकने जैसा' : उत्तर कोरिया

Submitted by NEWSWING on Tue, 01/16/2018 - 20:41
Seol : उत्तर कोरिया ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप द्वारा बीते दिनों की गयी ट्वीट का आज करार जवाब दिया है. कहा है कि ट्रंप का बयान ‘पागल कुत्ते के भोंकने' जैसा है. ट्रंप ने कहा था कि उनके पास जो परमाणु बटन है वह उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग उन के बटन से अधिक बड़ा है और यह काम भी करता है. इसे उत्तर कोरिया ने ‘‘पागल की मरोड़’’ और ‘‘पागल कुत्ते के भोंकने’’ जैसा बताया है. किम ने नववर्ष पर अपने संबोधन का इस्तेमाल यह चेतावनी देने के लिए किया था कि उनकी मेज के नीचे ‘‘परमाणु बटन’’ लगा हुआ है. किम ने हालांकि आगे चलकर इसमें नरमी दिखायी थी. अगले महीने दक्षिण कोरिया में होने वाले प्योंगचांग के शरतकालीन ओलंपिक में हिस्सा लेने में भी रूचि दिखायी थी.

बाबूलाल के नेतृत्व में राज्यपाल से मिला विपक्ष का प्रतिनिधिमंडल, चीफ सेक्रेटरी और डीजीपी को बर्खास्त करने की मांग की

Submitted by NEWSWING on Tue, 01/16/2018 - 20:06
Ranchi: बुधवार से राज्य विधानसभा का बजट सत्र शुरु होना है. सदन में सरकार को घेरने की विपक्ष ने पूरी तैयारी कर ली है. बजट स़त्र शुरु होने के पूर्व संध्या पर विपक्ष का एक प्रतिनिधि मंडल एकजुट होकर पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी के नेतृत्व में राज्यपाल से मिलने पहुंचा. प्रतिनिधिमंडल ने राज्यपाल से मुख्य सचिव, डीजीपी और एडीजी स्पेशल ब्रांच को पदमुक्त करने की मांग की. राजभवन से निकलने के बाद झाविमो चीफ बाबूलाल मरांडी ने कहा कि सरकार जान बूझकर दोषियों को संरक्षण दे रही है. अधिकारी खुद को कानून से उपर समझ रहे हैं. राज्य के रक्षक ही भझक बन गए हैं, लोकतंत्र खतरे में है

गिरिडीह : कॉमरेड महेंद्र सिंह की 14 वीं शहादत दिवस पर उमड़ा जनसैलाब

Submitted by NEWSWING on Tue, 01/16/2018 - 17:49

Giridih :  जिले के बगोदर बस पड़ाव में भाकपा माले की ओर से कॉमरेड महेंद्र सिंह की 14 वीं शहादत दिवस पर सभा का आयोजन किया गया. इस सभा को संबोधित करते हुए माले के राष्ट्रीय महासचिव दीपांकर भट्टाचार्य ने कहा कि, देश और राज्य की फासीवाद सरकार का मुकाबला करने के लिये जनता को तैयार रहना होगा.

विधानसभा के परिसंवाद में विपक्ष ही नहीं सत्ता पक्ष के निशाने पर भी रहे रघुवर, सरयू राय ने कैबिनेट की बैठक पर उठाये सवाल

Submitted by NEWSWING on Tue, 01/16/2018 - 17:42
Ranchi:  विधानसभा में सदन की कार्यवाही ठीक से चले. विधायकों को उनके सवाल का जवाब मिले. विपक्ष अपनी बात ठीक से सरकार के सामने रख पाये. सरकार सभी सवालों का जवाब सही से दे. इसके लिए विधानसभा अध्यक्ष दिनेश उरांव की पहल पर एक कार्यशाला का आयोजन किया गया. कार्यशाला में राज्य के सभी विधायक आमंत्रित थे. ये अलग बात थी कि कार्यशाला में विधायकों से ज्यादा पत्रकार मौजूद थे. कार्यशाला विधायी शोध संदर्भ एवं प्रशिक्षण कोषांग की तरफ से बुलाया गया था. परिसंवाद का विषय सदन में आए दिन बढ़ती अव्यवस्था की प्रवृति के कारण और निदान था.

मुख्यमंत्री ने अपने ही बाडीगार्ड को सरेआम मारा थप्पड़, वीडियो वायरल, कांग्रेस ने की कार्रवाई की मांग

Submitted by NEWSWING on Tue, 01/16/2018 - 16:24
Dhar: अक्सर शांत और संयमित दिखने वाले मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भारी भीड़ के बीच अपना आपा खो दिया और अपने ही बाडीगार्ड को थप्पड़ जड़ दिया. घटना धार जिले के सरदारपुर की है. मुख्यमंत्री यहां नगर निकाय चुनाव के प्रचार के लिए पहुंचे थे. तभी रोड शो के दौरान शिवराज सिंह चौहान के सामने उनका बॉडीगार्ड आ गया. जिसे उन्होंने थप्पड़ जड़ दिया. इतना ही नहीं उसे खींच कर अपने आगे से हटा दिया. दरअसल 14 जनवरी सरदारपुर नगर परिषद चुनाव के सिलसिले में हुई रैली के दौरान बॉडीगार्ड भीड़ को कंट्रोल करने के दौरान बार-बार सीएम के सामने आ रहा था.

बेहोशी की हालत में मिले लापता प्रवीण तोगड़िया, रोते हुए कहाः मेरा एनकाउंटर कराने की थी साजिश

Submitted by NEWSWING on Tue, 01/16/2018 - 15:38
Ahmedabad: विहिप नेता प्रवीण तोगड़िया ने आरोप लगाया है कि ‘‘कुछ लोग’’ उनकी आवाज को दबाने की कोशिश कर रहे हैं और उन्हें एक पुलिस मुठभेड़ में मारने की साजिश रची गई थी. गौरतलब है कि तोगड़िया सोमवार को कुछ समय के लिए लापता हो गये थे. लापता होने के करीब 11 घंटे बाद तोगड़िया सोमवार देर रात अहमदाबाद के शाही बाग इलाके में बेहोश हालत में मिले थे. अब मीडिया के सामने आकर उन्‍होंने लापता होने के राज का खुलासा किया है. मंगलवार को भावुक होते हुए एक संवाददाता सम्मेलन में उन्होंने कहा कि वह छिप गए थे, क्योंकि उन्हें डर था कि पुलिस उन्हें एक मुठभेड़ में मार देगी. तोगड़िया ने कहा कि उन्हें राम मंदिर, किसानों तथा गो वध जैसे मुद्दों पर बोलने नहीं दिया जा रहा है.

28 बड़े शहरों में रिंग रोड पर 36,290 करोड़ खर्च करेगा केंद्र, रांची रिंग रोड 14 सालों बाद भी अधूरी

Submitted by NEWSWING on Tue, 01/16/2018 - 13:19

Ranchi : रांची समेत देश के 28 बड़े शहरों में केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्रालय रिंग रोड बनाने की योजना तैयार कर रही है. इस योजना में 36,290 करोड़ रूपये खर्च होने का अनुमान है. यह परियोजना केंद्र सरकार के महत्‍वाकांक्षी योजना भारत मामला कार्यक्रम का हिस्‍सा है.

हजारीबाग जेल के कैदियों ने CCTV कैमरा लगाने का किया विरोध, कहा- 'गरिमा के साथ जीने का माहौल दें'

Submitted by NEWSWING on Mon, 01/15/2018 - 20:50
Hazaribagh/Ranchi : हजारीबाग केंद्रीय कारा में सीसीटीवी लगाये जाने का कैदियों ने कड़ा विरोध किया है. जेल में बंद कैदियों के सोने के वार्ड में सुरक्षा के नाम पर सीसीटीवी कैमरे लगाए जा रहे हैं. सूत्रों के मुताबिक कैदियों ने इस मामले को लेकर जेल आईजी और हाईकोर्ट को पत्र लिखा गया है. पत्र में लिखा गया है कि जेल में कैदियों के बेडरूम और बाथरूम तो निजी तो नहीं हैं, लेकिन बेडरूम और बाथरूम में ताक-झांक करना न्याय संगत नहीं है. अगर कोई व्यक्ति सार्वजनिक स्थान पर रहता है. तब भी उसकी निजता को भंग नहीं किया जा सकता है.

हाल-ए-रिम्स : अपनी ही पॉलिसी का रिम्स नहीं कर रहा पालन, ब्लड रिप्लेसमेंट देने को मजबूर परिजन

Submitted by NEWSWING on Mon, 01/15/2018 - 20:34
Kumar Gaurav, Ranchi: राज्य का सबसे बड़ा अस्पताल हमेशा अपनी स्वास्थ्य सेवाओं के लिए सुर्खियों में बना रहता है. कभी जमीन पर पड़े मरीजों के इलाज को लेकर तो कभी कैटरिंग सेवाओं के जरिए मरीजों को मिल रहे खराब खाने के वजह से. रिम्स का अधिकतर मामला हमेशा संवेदनशील होता है. रिम्स में जिस क्षेत्र में मरीज या मरीजों के परिजन सबसे ज्यादा परेशान रहते हैं, वो है यहां का ब्लड बैंक. यही वो जगह है जहां लोग खुद को सबसे ज्यादा मजबूर और बेबस पाते हैं. ऐसा इसलिए कि रिम्स अपने पॉलिसी का ही पालन नहीं करता, जिसके तहत सभी भर्ती मरीजों को रिम्स ब्लड बैंक खून के बदले रिप्लेसमेंट की मांग करता है. जो दूर दराज से आए मरीजों को सबसे ज्यादा परेशान करता है.

आधार को अनिवार्य करना पागलपन : ज्यां द्रेज

Submitted by NEWSWING on Mon, 01/15/2018 - 19:44
Ranchi: भोजन का अधिकार अभियान ने सरकार की आधार अनिवार्यता पर कई गंभीर सवाल खड़े किया है. सामाजिक कार्यकर्ता और अर्थशास्त्री ज्यां द्रेज ने कहा है कि आधार को अनिवार्य करना पागलपन भरा फैसला है. राज्य में जिन लोगों का आधार से पेंशन, राशन कार्ड, जॉब कार्ड लिंक नहीं हुआ है वैसे लाभुकों को लाभ से वंचित किया जा रहा है. झारखंड में जॉब कार्ड, राशन कार्ड या पेंशनर को फर्जी बताया गया है और इस मद में बची हुई राशि को सरकार आधार इनेबल सेविंग कहकर खुद की वाहवाही लूट रही है. झारखंड में आधार कार्ड से लिंक नहीं होने के कारण हजारो जॉब कार्ड भी कैंसिल कर दिये. प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए ज्यां द्रेज ने यह बातें कही.
um

 

JHARKHAND GRID

शहादत दिवस पर याद किये गये जननायक महेंद्र सिंह, माले ने कहा- 'देश में अब दूसरे दौर का आपातकाल'

पाकुड़ः पत्नी की हत्या का आरोपी कलम बास्की दोषी करार, 20 जनवरी को कोर्ट सुनायेगी सजा

बाबूलाल के नेतृत्व में राज्यपाल से मिला विपक्ष का प्रतिनिधिमंडल, चीफ सेक्रेटरी और डीजीपी को बर्खास्त करने की मांग की

भारतमाला प्रोजेक्‍ट के तहत बनेगा रांची-संबलपुर वाया खूंटी इकोनॉमिक कॉरिडोर

17 सालों में सिर्फ 429 दिन ही चला सदन, फिर भी विधानसभा की कार्यशाला में पहुंचे 81 में से सिर्फ 19 विधायक

फर्जी जमानतदार खड़ा कर बेल लेते हैं अपराधी, जांच में जुटी पुलिस

चारा घोटाला : डोरंडा कोषागार से अवैध निकासी मामले के 94 आरोपी को हाजिर होने का आदेश

हाल-ए-रिम्स: दवा नहीं मिलने से हिमोफीलिया मरीज की मौत, गिड़गड़ाती रही मां, लेकिन प्रबंधन ने नहीं दिया फैक्टर 8

tourian
in

 

गुजरात: मोरबी, वांकानेर के टाइल्स उद्योग में दिहाड़ी मजदूरों का हो रहा है शोषण, ठेकेदारी प्रथा के चलते श्रमिक बने बंधुआ मजदूर

Submitted by NEWSWING on Tue, 01/16/2018 - 10:42

रीता विश्वकर्मा

श्रमिक शोषण और उन्हें बन्धक बनाकर बंधुआ मजदूरों की तरह काम कराने की प्रथा अंग्रेजों के जमाने से लेकर वर्तमान स्वाधीन राष्ट्र में भी कायम है. अंग्रेजी शासनकाल में हिन्दुस्तानियों के साथ अमानवीय व्यवहार करते हुए उनका और उनके श्रम का शोषण अंग्रेज किया करते थे. चाहे वह देश में रहा हो या अन्य मुल्कों में ले जाकर श्रम कानून की अनदेखी कर हिन्दुस्तानियों का शोषण करना आम बात रही. तब की बात और थी तब देश गुलाम था लेकिन अब स्वाधीन भारत में यदि ब्रितानियाँ हुकूमत के कारनामों की पुनरावृत्ति हो तो यह अवश्य ही शोचनीय विषय बन जाता है.

जज बी एच लोया के पुत्र अनुज लोया ने कहा, पिता की हुई थी स्वभाविक मौत इसमें कोई संदेह नहीं

Submitted by NEWSWING on Mon, 01/15/2018 - 11:22

Mumbai : विशेष सीबीआई न्यायाधीश बी एच लोया के पुत्र ने रविवार को कहा कि उनके पिता की स्वभाविक मृत्यु हुयी थी और परिवार को इस बात का पक्का यकीन है. अनुज लोया (21) ने कहा कि मेरे पिता की स्वभाविक मृत्यु हुयी थी, हमारे परिवार को इस बात का पक्का यकीन है. मैंने खुद साफ किया है कि हमें कोई संदेह नहीं है. यह एक स्वभाविक मृत्यु थी. उनके पिता की मौत की जांच की मांग को लेकर बंबई उच्च न्यायालय और उच्चतम न्यायालय में दायर याचिकाओं के बारे में पूछे जाने पर अनुज ने कहा कि मुझे इसके बारे में कुछ नहीं कहना. मैं इसके बारे में बात करने वाला कोई नहीं हूं.