Skip to content Skip to navigation

Add new comment

पनामा पेपर मामले में सुनवाई, पेश नहीं होंगे शरीफ

News Wing

Islamabad, 13 October: पाकिस्तान के बर्खास्त प्रधानमंत्री अपनी बीमार पत्नी के साथ लंदन में होने के कारण पनामा पेपर मामले में भ्रष्टाचार विरोधी अदालत के समक्ष आज पेश नहीं होंगे.

जुलाई में सुप्रीम कोर्ट ने ठहराया था अयोग्य

सुप्रीम कोर्ट ने 67 वर्षीय शरीफ को 28 जुलाई को अयोग्य ठहराया था. इस फैसले के बाद राष्ट्रीय जवाबदेह ब्यूरो (एनएबी) ने शरीफ, उनके परिवार के सदस्यों और वित्त मंत्री इशाक डार के खिलाफ इस्लामाबाद जवाबदेह अदालत में भ्रष्टाचार और धन शोधन के तीन मामले दर्ज किए हैं.

कोर्ट की सुनवाई में शरीफ के प्रतिनिधि होंगे शामिल

सत्तारूढ़ पाकिस्तान मुस्लिम लीग नवाज  के एक आला रहनुमा ने बताया कि शरीफ आज सुनवाई में हिस्सा नहीं लेंगे क्योंकि वह लंदन में अपनी पत्नी कुलसुम की तीमारदारी में व्यस्त हैं. बता दें कि कुलसुम गले के कैंसर से पीड़ित हैं और अब तक ब्रिटेन में उनके तीन ऑपरेशन हो चुके हैं. उन्होंने बताया कि शरीफ ने सुनवाई में शामिल होने और आरोपों से इनकार करने के लिए एक प्रतिनिधि को नामांकित किया है. टीवी फुटेज में दिख रहा है कि शरीफ की बेटी और दामाद मोहम्मद सफदर सुनवाई में शामिल होने के लिए कोर्ट में पहुंच गए हैं. वे पिछली सुनवाई के दौरान भी मौजूद थे.

शरीफ के बैंक खातों पर रोक व संपत्ती जब्द

शरीफ और उनके परिवार के सदस्यों के अदालत में पेश होने के लिए उनपर दवाब बनाने के वास्ते भ्रष्टाचार विरोधी इकाई एनएबी ने उनके बैंक खातो पर रोक लगा दी है तथा उनकी संपत्तियों को जब्त कर लिया है. इससे पहले शरीफ सोमवार को भी अदालत में पेश नहीं हुए थे क्योंकि वह पत्नी के साथ लंदन में थे.

अभियोग के बाद जेल जा सकते है शरीफ

शरीफ के परिवार ने आरोप लगाया है कि मामले सियासी तौर पर प्रेरित हैं. अभियोग के बाद शरीफ को जेल जाना पड़ सकता है.

 

Lead
Share
loading...