Skip to content Skip to navigation

Add new comment

सुधरने लगे मुलायम-अखिलेश के रिश्ते, लोहिया पार्क में पिता के पैर छू अखिलेश ने लिया आशीर्वाद

News Wing Lucknow, 12 October: समाजवादी पार्टी में रिश्तों पर जमी बर्फ अब धीरे-धीरे पिघल रही है. समाजवादी परिवार में लंबे समय से चली आ रही रार अब समाप्त होने की राह पर है. गुरुवार को लखनऊ में समाजवादी पार्टी के सरंक्षक मुलायम सिंह यादव के साथ पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव डॉ. राम मनोहर लोहिया के पुण्य तिथि समारोह में एक साथ पहुंचे. अखिलेश ने यहां पिता मुलायम सिंह यादव के पैर भी छुए. डॉ. राम मनोहर लोहिया की 50वीं पुण्यतिथि पर आज लखनऊ में डॉ. राम मनोहर लोहिया पार्क में मुलायम सिंह यादव के साथ अखिलेश यादव ने उनकी प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित की. वहीं शिवपाल यादव इस मौके पर मौजूद नहीं थे.

मुलायम ने कहा सारा परिवार एक है और हमेशा एक रहेगा

अखिलेश यादव ने कहा कि हमने नेताजी से मुलाकात की और उनके चरण स्पर्श कर आशीर्वाद लिया. वहीं मुलायम सिंह यादव ने कहा कि सारा परिवार एक है और हमेशा ही एक रहेगा. गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के पहले पिता-पुत्र के बीच मतभेद पैदा हो गए थे. मुलायम नहीं चाहते थे कि समाजवादी पार्टी कांग्रेस के साथ मिलकर चुनाव लड़े. जब अखिलेश उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री थे तभी से राज्य के विकास और कुछ अन्य मुद्दों को लेकर मुलायम सिंह ने कुछ ऐसी टिपणियां की थीं जो अखिलेश को नागवार गुजरी थीं.

नोटबंदी से कोई भ्रष्टाचार खत्म नहीं हुआ

अखिलेश यादव ने यहां भाजपा सरकार पर जमकर वार किया. उन्होंने कहा कि नोटबंदी से कोई भ्रष्टाचार खत्म नहीं हुआ है, वहीं बिना किसी तैयारी के जीएसटी लागू कर दिया गया. अब ये लोग गुजरात के चुनाव के दबाव की वजह बैकफुट में आये हैं. बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह पर अखिलेश ने तंज कसते हुए कहा कि हमें ही कोई रास्ता बता दें 50000 से हमारे भी 80 करोड़ रुपये हो जाएंगे. उन्होंने यह भी कहा कि हमारे परिवार की बहुत चर्चा होती है उनकी कब चर्चा होगी पता नहीं.

Lead
Share
loading...