Skip to content Skip to navigation

Add new comment

CBI ने भक्तों की जबरन नसबंदी मामले में राम रहीम का बयान दर्ज किया

News Wing

News Delhi, 11 October : सीबीआई ने 400 पुरुष अनुयायिओं की कथित तौर पर जबरन नसबंदी कराने के मामले में डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख गुरमीत राम रहीम सिंह का बयान दर्ज किया है. विशेष अदालत की अनुमति से एजेंसी के अधिकारियों ने रोहतक जेल में राम रहीम का बयान रिकॉर्ड किया. दो साध्वियों से बलात्कार के जुर्म में राम रहीम इसी जेल में 20 साल की सजा काट रहे हैं. सीबीआई ने पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय के आदेश पर जनवरी, 2015 में मामला दर्ज किया था.

400 अनुयायिओं के जबरन नसबंदी का आरोप

सीबीआई ने सिरसा स्थित डेरा मुख्यालय में 400 अनुयायिओं को कथित तौर पर जबरन नसबंदी कराने के लिए राम रहीम और अन्य लोगों के खिलाफ कई धाराओं के तहत प्राथिमकी दर्ज की थी. सीबीआई के एक प्रवक्ता ने पहले बताया था कि डेरा के एक अनुयायी ने 2012 में उच्च न्यायालय में रिट याचिका दायर कर सीबीआई जांच और मुआवजे की मांग की थी. इस अनुयायी की 2000 में कथित तौर पर जबरन नसबंदी की गई थी.

अधिकारी के अनुसार याचिकाकर्ता हंसराज चौहान का आरोप है कि डेरा मुख्यालय में करीब 400 पुरुष अनुयायिओं की नसबंदी कराई गई . उस वक्त डेरा प्रमुख ने दावा किया था कि ऐसा कराने से अनुयायिओं को ईश्वर की प्राप्ति होगी.

Lead
Share
loading...