Skip to content Skip to navigation

Add new comment

अजब रिवाज : मन्नत पूरी होने पर बच्चे को गर्म चारकोल पर लिटाया

News Wing

Bangalore, 02 October: एक दरगाह में माता-पिता ने अपने 18 महीने के बेटे को केले के पत्तों में लपेट कर हल्के गर्म चारकोल के बिस्तर पर लिटा दिया. एक भयावह परंपरा के तहत बच्चे के माता पिता ने ऐसा किया. बच्चे के माता पिता के अनुसार उनकी कोई मन्नत थी जिसके पूरा होने के बाद ऐसा किया गया.

बच्चे को गर्म चारकोल के बिस्तर पर लिटाया

न्यूज एजेंसी भाषा के हवाले से ऐसा कहा गया है कि घटना धारवाड़ जिले के अल्लापुर में कल मुहर्रम के मौके पर हुई. वीडियो में एक व्यक्ति केले के पत्तों में लिपटे बच्चे को हल्के गर्म चारकोल के बिस्तर पर लिटाता दिख रहा है. बच्चा बेतहाशा रो रहा है और वहां से हटना चाहता है.



गर्म चारकोल में से लगातार धुंआ निकल रहा था

पुलिस के अनुसार बच्चे के माता-पिता ने दो वर्ष पहले बच्चे के लिए कोई मन्नत मांगी थी. उनकी मन्नत पूरी होने पर वे अपने वादे को पूरा करने आए. बच्चे को चारकोल पर लिटाया गया, इसमें आग नहीं थी लेकिन यह थोड़ा गर्म जरूर था. वह केले के पत्तों में लिपटा था. यह कुछ सेकेंड तक चला.

मामला दर्ज नहीं

पुलिस के अनुसार इस बाबत कोई मामला दर्ज नहीं किया गया है. लेकिन बाल कल्याण समिति को सूचित किया गया है और उनसे अनुरोध किया गया है कि वे अभिभावकों को समझाएं.

‘अमानवीय रस्मों रिवाजों’ को खत्म करने के लिए अंधविश्वास निरोधी विधेयक

कुछ दिन पहले ही कर्नाटक के मंत्रिमंडल ने ‘अमानवीय रस्मों रिवाजों’ को खत्म करने के लिए अंधविश्वास निरोधी विधेयक को मंजूरी दी थी. प्रस्तावित ‘कर्नाटक प्रिवेंशन ऐंड इरेडिकेशन ऑफ इनह्यूमन एविल प्रैक्टिसेस ऐंड ब्लैक मैजिक बिल, 2017’ को विधानसभा के अगले सत्र में सदन में रखा जाएगा.

 

Share
loading...