Skip to content Skip to navigation

खूंटी के युवा किसान बन रहे हैं मिसाल, स्वीट कॉर्न की खेती से कर रहे हैं अच्छी आमदनी

NEWS WING

KHUNTI, 24 NOVEMBER : एक दौर था, जब खूंटी में अफीम की खेती चरम पर की जाती थी. पुलिस लगातार अफीम की खेती को नष्ट करने का अभियान चला रही थी. लेकिन अब खूंटी में एक नया दौर आ गया है. अब वहां के किसान स्वीट कॉर्न की खेती जोर - शोर से कर रहे हैं.  खूंटी  के तोरपा प्रखण्ड का सबसे पिछड़ा इलाका उकड़ीमाड़ी है. जहां अधिकारी और नेता बमुश्किल ही पहुंचते हैं. इस इलाके में  धान, उड़द, मड़ुवा और सरगुजा जैसे परंपरागत खेती ही किसान किया करते थे और खेत के ऊपरी हिस्से वाली टांड़ जमीन पर बारिश के   मौसम में घास और झाड़ियों का अंबार लग जाया करता था. लेकिन खूंटी पुलिस की सतर्कता और लगातार अफीम की खेती के विरुद्ध अभियान चलाए जाने से युवाओं ने नए कैश-क्रॉप स्वीट कॉर्न की ओर ध्यान दिया. अब स्थिती  यह है कि इलाके के किसान ही नहीं बल्कि महिला संघ ने भी अपनी साझेदारी दिखायी है और  स्वीट कॉर्न के साथ ही अन्य नगदी फसलों की खेती शुरू की गयी है.

गैर सरकारी संस्थाओं ने खेती के लिए युवाओं को किया प्रेरित

तोरपा के उकड़ीमाड़ी में गैर सरकारी संस्थाओं ने युवाओं को प्रेरित किया. सबसे पहले संस्था की ओर से  बेकार पड़ी घास - फूस वाली जमीन पर खेती के लिए युवाओं को तैयार किया. इसके बाद चार एकड़ बेकार पड़ी जमीन पर युवाओं ने स्वीट कॉर्न की खेती की. इस खेती में उम्मीद से ज्यादा फसल हुई. जिसे देखकर अन्य किसान भी   प्रेरित हुए. अब अगले सीजन में पूरा गांव कॅश क्रॉप करने का मन बना चुकी है. वहीं स्वीट कॉर्न के मार्केटिंग का पूरा जिम्मा भी युवाओं ने ही उठाया है और मदर डेयरी, रिलायंस फ्रेश में भी खूंटी के स्वीट कॉर्न पहुंचने लगे हैं. अब सफल खेती को देखते हुए किसानों को उम्मीद है कि स्वीट कॉर्न की खेती से प्रति एकड़ लगभग 40 से 50 हजार तक की आमदनी होगी. वहीं युवा किसानों के इस जज्बे को देखकर स्थानीय जनप्रतिनिधि भी काफी उत्साहित हैं. अब जनप्रतिनिधि भी अपने-अपने प्रखंडों में स्वीट कॉर्न की खेती को लेकर किसानों को प्रोत्साहित करने की सोच रहे हैं. जिससे अवैध अफीम की खेती से किसान बच सकें और उनकी आमदनी भी अच्छी हो जाये.

 

सीएम ने की थी किसानों से अपील - स्वीट कॉर्न की खेती को दें बढ़ावा

यहां बता दें कि कुछ दिन पहले ही सीएम रघुवर दास ने खूंटी के किसानों से अपील की थी कि आप स्वीट कॉर्न की खेती को बढ़ावा दें और  सरकार उसे बेचने का काम करेगी. साथ ही सीएम ने एलान किया था कि सरकार खूंटी में जल्द ही फूड प्रोसेसिंग प्लांट लगाएगी.  वहीं 12 नवंबर को सीएम की घोषणा से ग्रामीण लाभान्वित तो हुे हैं. लेकिन देखना है कि सीएम की घोषणा धरातल पर कब उतर पाती है और किसानों को इसका कितना फायदा होता है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Slide
City List: 
Share

Add new comment

loading...