Skip to content Skip to navigation

यशवंत का प्रहार जारी, कहा : जय शाह का बचाव कर भाजपा ने उच्च नैतिकता खो दी

News Wing

Patna, 11 October : 
भाजपा के वरिष्ठ नेता यशवंत सिन्हा ने पार्टी प्रमुख अमित शाह के बेटे का बचाव करने के लिए अपनी पार्टी की आलोचना की है. मामले पर सिन्हा ने कहा कि ऐसा लगता है कि भाजपा ने इतने वर्षों में अर्जित अपने उच्च नैतिक आधार को खो दिया.मोदी सरकार की वित्तीय नीतियों के कट्टर आलोचक पूर्व वित्त मंत्री ने ‘द वायर’ के खिलाफ सौ करोड़ रुपये की मानहानि याचिका पर भी आपत्ति जताई. उन्होंने जय शाह मामले में कहा कि मीडिया की आवाज को दबाने के ऐसे प्रयास से बचा जा सकता था.

यह भी पढ़ें : जयंत ने पिता यशवंत सिन्हा के लेख के जवाब में लिखा, अर्थव्यवस्था के बदलावों पर नहीं जाती नजर

गोयल केंद्रीय मंत्री हैं या जय शाह के चार्टर्ड अकाउंटेंट

सिन्हा ने अमित शाह के बेटे का केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल द्वारा किए गए बचाव की तरफ इशारा किया. कहा, ‘‘निश्चित तौर पर मैं कहना चाहूंगा कि जय शाह के बचाव में जिस तरह से एक केंद्रीय मंत्री आगे आए, वह उचित नहीं था. वह केंद्रीय मंत्री हैं न कि जय शाह के चार्टर्ड अकाउंटेंट.’’उन्होंने उन ‘‘विशिष्ट परिस्थितियों’’ पर भी आपत्ति जताई जिनके तहत अतिरिक्त सोलीसीटर जनरल तुषार मेहता को ‘द वायर’ के खिलाफ मानहानि के मामले में जय शाह की तरफ से मुकदमा लड़ने को मंजूरी दी गई.

यब भी पढ़ें : यशवंत सिन्हा: अब सच बोलना जरुरी, बर्बाद हो गयी अर्थव्यवस्था, करीब से गरीबी दिखाना चाहते हैं जेटली

वर्षों में हमने उच्च नैतिक आधार बनाए, खत्म हो रहा

सिन्हा ने कहा, ‘‘इतने महीने और वर्षों में हमने जो उच्च नैतिक आधार बनाए थे, वे खत्म होते प्रतीत हो रहे हैं.’’ बहरहाल उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि वह आलेख के गुण-दोष पर टिप्पणी नहीं करना चाहते जिसमें बताया गया है कि 2014 में भाजपा के सत्ता में आने के बाद से जय शाह की कंपनी के कारोबार में काफी बढ़ोतरी हो गई.

सिन्हा ने कहा कि यह जांच का विषय है और कोई भी सरकारी एजेंसी इसे कर सकती है. भाजपा ने सिन्हा पर कांग्रेस से जुड़े होने के आरोप लगाए हैं.

यह भी पढ़ें : फॉर्म में हैं यशवंत सिन्हा, अब कहा- राजनाथ व पीयूष मुझसे ज्यादा अर्थशास्त्र समझते हैं

Top Story
Share

Add new comment

loading...