Skip to content Skip to navigation

न्यूज विंग के जागरूक पाठक अपनी समस्या, अपने आस-पास हो रही अनियमितता की तस्वीर या कोई अन्य खबर फोटो के साथ वाहट्सएप नंबर - 8709221039 पर भेजे. हम उसे यहां प्रकाशित करेंगे.

रोहिंग्या शरणार्थियों को ले जा रही नौका डूबी, आठ की मौत, दर्जनों लापता

News Wing

Cox's Bazar (Bangladesh), 16 October: रोहिंग्या समुदाय के सदस्यों को बांग्लादेश ले कर जा रही, क्षमता से अधिक भरी नौका के आज डूब जाने से कम से कम आठ लोगों की मौत हो गई और दर्जनों अन्य लापता हो गए. मरने वालों में ज्यादातर बच्चे हैं. म्यामां में सेना की कार्रवाई के बाद से करीब पांच लाख मुस्लिम शरणार्थी बांग्लादेश चले गए हैं.

नौका में 50 लोग सवार थे

यह नौका म्यामां और बांग्लादेश को अलग करने वाली नफ नदी के मुहाने पर डूबी है. अनुमान है कि नौका में 50 लोग सवार थे. बचकर भाग रहे रोहिंग्या समुदाय के लोग अक्सर ऐसी त्रासदियों का शिकार होते हैं. रखाइन प्रांत में रोहिंग्या मुसलमानों के खिलाफ हो रही हिंसा को संयुक्त राष्ट्र ने म्यामां अधिकारियों द्वारा किया जा रहा ‘जातीय सफाया’ बताया है.

अभी तक एक दर्जन नौकाएं डूबने से लगभग 200 लोगों की मौत हुई

अगस्त महीने में मुस्लिम उग्रवादियों के हमले के बाद म्यामां की सेना ने ‘छानबीन अभियान’ चलाया. इसके बाद रोहिंग्या समुदाय का प्रवास शुरू हुआ था. इस अवधि में अभी तक करीब एक दर्जन नौकाएं डूबने से लगभग 200 लोगों की मौत हुई है.

21 लोग सुरक्षित बच गए

बॉर्डर गार्ड बांग्लादेश के एरिया कमांडर लेफ्टिनेंट कर्नल एस. एम. आरिफ-उल-इस्लाम के अनुसार, नौका में अनुमानित तौर पर 50 लोग सवार थे. आठ शव बह कर नदी के तट पर आ गए जबकि 21 लोग सुरक्षित बच गए. आठ लोगों की मौत हुई है. इसमें अधिकतर बच्चे है. यह मछली पकड़ने वाली छोटी नौका थी. यह क्षमता से अधिक भरी होने के कारण डूब गई.



नौका बांग्लादेश के तट से करीब 200 मीटर दूर डूबी

उन्होंने कहा कि तट रक्षक और सीमा गार्ड नफ नदी में बचाव एवं राहत अभियान चला रहे हैं. एक अन्य बॉर्डर के अनुसार यह नौका बांग्लादेश के तट से करीब 200 मीटर दूर डूबी. इससे करीब एक सप्ताह पहले नफ नदी के मुहाने पर रोहिंग्या समुदाय के सदस्यों से भरी एक अन्य नौका डूब गई थी.

 

Lead
Share

Add new comment

loading...