Skip to content Skip to navigation

न्यूज विंग के जागरूक पाठक अपनी समस्या, अपने आस-पास हो रही अनियमितता की तस्वीर या कोई अन्य खबर फोटो के साथ वाहट्सएप नंबर - 8709221039 पर भेजे. हम उसे यहां प्रकाशित करेंगे.

रांचीः स्लम इलाकों के बच्चों को शिक्षित कर रहे रिटायर्ड फौजी

Chandi Dutt Jha

Ranchi, 15 November: अगर कुछ करने का जज्बा हो तो वह इंसान समाज के लिए मिशाल बन जाता है. ऐसा ही काम सेना से सेवानिवृत फौजी कपिल मिश्रा कर रहे हैं. सेवानिवृति के बाद पिछले चार महीनों से  स्लम इलाकों के 70 से अधिक बच्चों को मुफ्त शिक्षा दे रहे हैं. जब इस काम की शुरूवात की गई तब बच्चों की संख्या कम थी. धीरे-धीरे बच्चों की संख्या इतनी बढ़ गई कि अब बैठने तक के लिए जगह कम है.

बच्चों को मंदिर के बाहर पैसे चुनते देखा थाः कपिल मिश्रा

कपिल बताते हैं कि कुछ महीने पहले उन्होंने कडरू मंदिर के बाहर कुछ बच्चों को फूल और सिक्कों को चुनते हुए देखा था. जब उन्होंने एक बच्चे से पूछा कि वो बड़ा होकर क्या बनना चाहता है तो उस बच्चे का जवाब था कि वह गुंडा बनना चाहता है. तभी से कपिल ने ठाना कि बच्चों के भविष्य को संवारना है. जिसके बाद मंदिर परिसर में ही उन्होंने बच्चों को पढ़ाना शुरू किया.

बच्चों को खुद कार से घर छोड़ते है

फौजी कपिल मिश्रा दूर से आने वाले बच्चों को उनके घर तक खुद छोड़ने जाते हैं. बच्चों के बीच बिस्कुट बांटते हैं. बच्चों को फिटनेस क्लास भी देते हैं. खुद नाई बनकर बच्चों के बाल काटते है और उन्हें नहलाने का काम भी वो खुद ही करते हैं. अब कपिल मिश्रा के साथ संत जेवियर कॉलेज का एक छात्र मनीष और एक महिला नंदरानी देवी भी बच्चों को पढ़ाती हैं. कपिल जी के उत्साह और बच्चों की खुशी देखकर मंदिर में पहुंचने वाले लोगों की भी सोच अब बदलने लगी है. जो लोग पहले शंकर भगवान पर दूध चढ़ाने आते थे, अब वही दूध और फल इन गरीब बच्चों को मिड डे मील के तौर पर दिया जाता है.

Lead
City List: 
Share

Add new comment

loading...