Skip to content Skip to navigation

मोमेंटम झारखंड का सच-03: 6400 करोड़ का एमओयू ऐसी कंपनी के साथ जिसका कहीं नामोनिशान नहीं

Akshay Kumar Jha

Ranchi, 10 October: झारखंड देश का सबसे उन्नत राज्य बनेगा. बेरोजगारी दूर होगी. सूबे में खुशहाली आएगी. और ना जाने कितने सपने संजोए मोमेंटम झारखंड के लिए हाथी को पर लगाए गए थे. उसे उड़ता हुआ दिखाया गया था. लेकिन, जिस तरह से परत-दर-परत सच सामने आ रहा है, ऐसा लग रहा है कि हाथी उम्मीद की पर लगाए उड़ने के बजाए मतवाला होकर विकास के सपने को रौंधने की तैयारी में है. ऐसा इसलिए कहा जा रहा है क्योंकि सरकार ने एक ऐसी कंपनी के साथ भी एमओयू किया है, जिसका कोई नामोनिशान तक कहीं नहीं है. एक एेसी ही कंपनी के बारे में newswing.com को पता चला है, जिसके साथ सरकार 6400 करोड़ का एमओयू किया है. 

पढ़ें, मोमेंटम झारखंड का सच-01ः एक माह पुरानी, एक लाख की कंपनी से सरकार ने किया 1500 करोड़ का करार

ऐसी कौन सी ये कंपनी है, जो कहीं नहीं है

सरकार के Dept. of Industry, Mines & Geology ने एक कंपनी SIBICS Housing P Ltd से EPS pannel Single, Double, Multi-layer PCB बनाने के लिए 6400 करोड़ का करार किया है. लेकिन, गौर करने वाली बात ये है कि ये कंपनी ना तो मिनिस्ट्री ऑफ कॉरपोरेट अफयर्स में रजिस्टर है और ना ही ये कंपनी दूसरा कोई काम कर रही है. या पहले किसी काम को कहीं पूरा कर चुकी है. गुगल पर सर्च करने पर ना ही इस कंपनी का अपना कोई वेबसाइट मिलता है और ना ही कोई एड्रेस. काफी जांच पड़ताल करने के बाद पता चला कि यह कंपनी पूरी तरह से फर्जी है.

पढें, मोमेंटम झारखंड का सच- 02: तीन कंपनियों की कुल पूंजी तीन लाख, एमओयू 2800 करोड़ का

मिलती जुलती कंपनी है SIBICS SOLUTIONS (OPC) PRIVATE LIMITED

छान-बीन के दौरान SIBICS Housing P Ltd से मिलती जुलती एक कंपनी मिली, जिसका नाम SIBICS SOLUTIONS (OPC) PRIVATE LIMITED है. ये कंपनी हैदराबाद की है और इस कंपनी की कुल अधिकृत राशि यानि जमा पूंजी सिर्फ एक लाख रुपए है. साथ ही यह कंपनी मोमेंटम झारखंड के बाद बनी है. कंपनी बनने की तारीख 23 जून 2017 है. SIBICS SOLUTIONS (OPC) PRIVATE LIMITED के एमडी के मेल आइडी पर खबर से संबंधित जानकारी newswing.com ने मांगी. लेकिन, वहां से खबर लिखे जाने तक किसी तरह की कोई जानकारी उपलब्ध नहीं करायी गयी.

पढ़ें, मोमेंटम झारखंड का सच: कोरियाई कंपनियां अब नहीं करेगी 7000 करोड़ का निवेश, सात में से छह प्रोजेक्ट गुजरात शिफ्ट

फरवरी 2017 में बनी एक लाख पुंजी की कंपनी से कर लिया 1900 करोड़ का एमअोयू

दिल्ली बेस्ड एक कंपनी है, जिसका नाम PARSA AGRO PRODUCT PRIVATE LIMITED है. मोमेंटम झारखंड का आयोजन 16-17 फरवरी 2017 को हुअा था. अाश्चर्य की बात है कि इस कंपनी का जन्म भी फरवरी 2017 में ही हुअा है. यह एक प्राइवेट लिमिटेड कंपनी है और इसकी कुल अधिकृत राशि यानि जमा पूंजी सिर्फ एक लाख रुपए है. ऐसे में ताज्जुब ये सोच कर होता है कि आखिर सरकारने कैसे ऐसी कंपनी के साथ 1900 करोड़ का एमओयू कर लिया. कंपनी ने सरकार के Dept. of Agriculture, Animal Husbandry and Cooperatives के साथ एमओयू किया है. एक लाख की पूंजी वाली यह कंपनी साथ में यह भी दावा करती है कि वो प्रदेश के 400 लोगों को पत्यक्ष रूप से रोजगार मुहैया कराएगी.

पढें, मोमेंटम झारखंडः छह माह बीते, एमओयू तीन लाख करोड़ का और निवेश सिर्फ 800 करोड़

7000 करोड़ का एमओयू ऐसी कंपनी के साथ, जिसकी पुंजी सिर्फ एक लाख

पंचकुला की एक कंपनी है Recycled Refuse International Limited. मोमेंटम झारखंड के आयोजन से ठीक 4 महीने पहले यानि नवंबर 2016 कंपनी की स्थापना होती है. कंपनी की कुल जमा पूंजी एक लाख रुपए है. कंपनी किसी बैंके पास जाए तो शायद ही कोई बैंक कंपनी को एक करोड़ का लोन दे. लेकिन झारखंड सरकार का Dept. of Urban Development & Housing Department विभाग कंपनी के साथ 7000 करोड़ का एमओयू करता है. कंपनी Municipal Solid Waste and Green House solution का काम राज्य भर में करेगी. इस एक लाख पूंजी वाली और करार के वक्त सिर्फ चार महीने की उम्र वाली कंपनी पर सरकार ने कैसे भरोसा कर इतने बड़े काम का करार कर लिया यह शोध का विषय है. वैसे कंपनी अपने एमओयू में 3500 लोगों को रोजगार देने का भी दावा करती है.

इसे भी पढ़ें ः मोमेंटम झारखंड में 225 करोड़ एमअोयू करने वाला प्रज्ञान फाउंडेशन कोलकाता पुलिस की गिरफ्त में

एक करोड़ की पूजी वाली कंपनी करेगी 4000 करोड़ का काम

Moham Infosolutions Private Limited कंपनी राज्य में करीब 4000 करोड़ का काम करेगी. इस कंपनी ने मोमेंटम झारखंड के बाद तीन एमओयू किया है. पहला Dept. of Tourism, Arts, Culture, Sports & Youth Affairs Department के साथ Hotel and International Standard Convention Center बनाने के लिए 1051 करोड़ का,  दूसरा Dept. of IT & e-Gov के साथ Data Centre Project बनाने के लिए 1800 करोड़ का और तीसरा Dept. of Health के साथ Hospital Project के लिए कंपनी ने विभाग के साथ 1000 करोड़ का एमओयू किया है. जबकि कंपनी की कुल पूंजी सिर्फ एक करोड़ की है. कंपनी तीनों प्रोजेक्ट के जरिए झारखंड में 3900 लोगों को प्रत्यक्ष रूप से रोजगार देने का दावा करती है.  

Slide
Breaking News
City List: 
special news: 
Share

Add new comment

loading...