Skip to content Skip to navigation

न्यूज विंग के जागरूक पाठक अपनी समस्या, अपने आस-पास हो रही अनियमितता की तस्वीर या कोई अन्य खबर फोटो के साथ वाहट्सएप नंबर - 8709221039 पर भेजे. हम उसे यहां प्रकाशित करेंगे.

मेरीकाम, सोनिया एशियाई चैम्पियनशिप के फाइनल में

News Wing

Ho Chi Minh City, 07 November : 
पांच बार की विश्व चैम्पियन एम सी मेरीकाम (48 किलो) ने एशियाई मुक्केबाजी चैम्पियनशिप में पांचवें स्वर्ण पदक की ओर कदम बढाते हुए आज फाइनल में प्रवेश कर लिया जबकि सोनिया लाथेर (57) ने भी खिताबी मुकाबले में जगह बनाई.

भारत के लिये हालांकि आज का दिन निराशाजनक भी रहा जब चार बार की स्वर्ण पदक विजेता एल सरिता देवी ( 64 किलो ) को कांस्य पदक से ही संतोष करना पड़ा जो सेमीफाइनल में चीन की दोउ डैन से हार गई. सरिता के अलावा प्रियंका चौधरी (60 किलो), लोवलिना बोरगोहेन (69 किलो), सीमा पूनिया (81 किलो से अधिक) और शिक्षा (54 किलो) को भी सेमीफाइनल में हार के साथ कांस्य पदक से संतोष करना पड़ा.



मेरीकाम ने जापान की सुबासा कोमुरा को 5 . 0 से हराया . वह छह में से पांचवीं बार इस टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंची है जहां उनका सामना उत्तर कोरिया की किम हयांग मि से होगा जिसने मंगोलिया की एन म्यांगमारदुलाम को मात दी.



फाइनल जीतने पर यह 48 किलोवर्ग में उनका पहला एशियाई स्वर्ण होगा.



राज्यसभा सांसद, ओलंपिक कांस्य पदक विजेता 35 बरस की मेरीकाम पांच साल तक 51 किलो में भाग लेने के बाद 48 किलोवर्ग में लौटी है . जापानी मुक्केबाज ने उनके खिलाफ काफी रक्षात्मक खेल दिखाया . मेरीकाम ने दूसरे राउंड में रफ्तार में इजाफा किया और आक्रामक खेल दिखाकर जीत दर्ज की.



मेरीकाम ने जीत के बाद पीटीआई कहा, ‘‘ दूसरे पदकों की तरह मेरे लिये यह काफी खास पदक है. हर पदक के पीछे एक कहानी होती है. मैं फाइनल में पहुंच कर काफी खुश हूं. मुझे लगा था सेमीफाइनल में कड़ा मुकाबला होगा लेकिन मैंने कोमुरा को जल्द ही हरा दिया. मैं फाइनल खेलने के लिये तैयार हूं लेकिन उसके बारे में ज्यादा सोच कर खुद को दबाव में नहीं लाना चाहती हूं.’’ उन्होंने कहा, ‘‘ मैं फाइनल में अपना सर्वश्रेष्ठ दूंगी जैसा अब तक इस टूर्नामेंट में किया है.’’

सोनिया ने काफी आक्रामक प्रतिद्वंद्वी उजबेकिस्तान की योदगोरोय मिर्जाएवा को हराया. वह कल फाइनल में चीन की यिन जुन्हुआ से भिड़ेंगी. शिक्षा ( 54 किलो ) ने अपने वर्ग में कांस्य पदक जीता जिसे चीनी ताइपै की पूर्व युवा विश्व चैम्पियन लिन यू तिंग ने सेमीफाइनल में हराया . प्रियंका चौधरी ( 60 किलो ) को भी कांस्य पदक मिला . उसे सेमीफाइनल में कोरिया की ओ यिओंजी ने मात दी . एक अन्य सेमीफाइनल में लोवलिना को कजाखस्तान की वेलेंटीना खालजोवा ने पटखनी दी.



छोटे ड्रा के कारण सेमीफाइनल में सीधे प्रवेश पाने वाली सीमा को कजाखस्तान की गुजाल इस्मातोवा से हार का कांस्य से संतोष करना पड़ा.

Lead
Share

Add new comment

loading...