Skip to content Skip to navigation

लखनऊ: मंत्री की बेटी ने अपनी किताब में की मोदी की प्रशंसा लेकिन क्यों हो गए सीएम योगी परेशान

News Wing

Lucknow, 7 October: कभी-कभी किसी के प्रशंसा के चक्कर में उसकी फजीहत हो जाती है. ऐसा ही कुछ उत्‍तर प्रदेश के कद्दावर नेता स्‍वामी प्रसाद मौर्य की बेटी संघमित्रा के साथ हुआ है. दरअसल संघमित्रा ने मोदित्व के मायने नाम की एक किताब लिखी है. उस किताब में यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के लिए जो संदर्भ दिए गए हैं उससे सीएम योगी परेशान हो सकते हैं.

योगी के बारे में क्या लिखा है किताब में

बता दें कि संघमित्रा ने पीएम मोदी की सफलता की कहानी बताने के लिए यह किताब लिखी है. लेकिन यह किताब में उन्होंने सीएम योगी की फजीहत कर दी है. किताब में योगी के योगी के गोरखपुर का सांसद बनने से लेकर मुख्‍यमंत्री पद तक पहुंचने के पॉलिटिकल अवतार के बारे में बताया गया है. इसमे उन सभी दंगों, विवादित बयानों और हिंदूवादी रवैये के बारे में लिखा गया है जनमें योगी शामिल थे. किताब में योगी को कोर्ट करते हुए उनका एक बयान भी लिखा गया है कि अगर उनके रास्‍ते पर चलें तो देश की हर मस्जिद में हिन्‍दू देवी-देवताओं की मूर्तियां होंगी. नवभारत टाइम्‍स की रिपोर्ट के अनुसार, किताब में योगी का वह बयान भी है जो उन्‍होंने बीफ खाने के आरोपी मोहम्‍मद एखलाक की हत्‍या के बाद दिया था.  

योगी को संघमित्रा की सलाह

संघमित्रा ने अपनी किताब में योगी को सलाह देते हुए लिखा है कि उन्‍हें अब अपनी भावनाओं को रोकना चाहिए क्‍योंकि वह अब एक मुख्‍यमंत्री हैं. योगी को राज्‍य में अच्‍छा शासन लाना चाहिए.

गौरतलब है कि बहुजन समाज पार्टी छोड़कर भारतीय जनता पार्टी में आए उत्‍तर प्रदेश के कद्दावर नेता स्‍वामी प्रसाद मौर्य अब राज्‍य सरकार में मंत्री हैं.

 

Share

Add new comment

loading...