Skip to content Skip to navigation

न्यूज विंग के जागरूक पाठक अपनी समस्या, अपने आस-पास हो रही अनियमितता की तस्वीर या कोई अन्य खबर फोटो के साथ वाहट्सएप नंबर - 8709221039 पर भेजे. हम उसे यहां प्रकाशित करेंगे.

जामताड़ाः वर्ल्ड डायबिटीज डे पर बोले सीएस- संयम ही मधुमेह का इलाज

NEWSWING

Jamtara, 14 November : विश्व मधुमेह दिवस पर मंगलवार को सदर अस्पताल के सभागार में कार्यशाला का आयोजन किया गया. कार्यशाला में मुख्य रूप से मधुमेह रोग से बचाव पर चर्चा की गयी. कार्यशाला में सिविल सर्जन डॉ बीके साहा बतौर मुख्य अतिथि उपस्थित थे. कार्यशाला को संबोधित करते हुए सिविल सर्जन ने कहा कि स्वास्थ्य के प्रति लापरवाही नहीं बरतनी चाहिए. उन्होंने कहा कि मधुमेह का मुख्य कारण स्वास्थ के प्रति लापरवाही है. खानपान में लोगों को विशेष रूप से ध्यान रखने की जरूरत है. सीएस ने कहा कि संयम ही मधुमेह का इलाज है.

मधुमेह का तेजी से बढ़ना विज्ञान के लिए गंभीर चुनौती

सिविल सर्जन डॉ बीके साहा ने कहा कि जिस रफ्तार से मधुमेह बढ़ रहा है, वह चिकित्सा विज्ञान के लिए गंभीर चुनौती है. इस पर चिन्तन और मनन की जरूरत है. वहीं, मौके पर उपस्थित डॉ डीके अखौरी ने कहा कि मधुमेह से बचाव का सबसे बेहतर तरीका सावधानी है. लोगों को अपने स्वास्थ्य के प्रति सचेत होना होगा. यदि इस मामले में थोड़ी भी असावधानी हुई, तो मधुमेह होने से कोई नहीं रोक सकता है. उन्होंने कहा कि पूरा विश्व डायबिटीज के बढ़ते मरीजों को लेकर चिंतित है. कहा कि आज अधिकतर लोग मधुमेह से ग्रसित हैं. अगर किसी को मधुमेह है तो वो अपने दिनचार्या में बदलाव लायें. मधुमेह की नियमित जांच कराते रहना चाहिए. उसको कंट्रोल में रखना अति आवश्यक है. नहीं तो आगे चल कर इसका असर हमारे किडनी, आंख सहित अन्य अंग पर होता है. कार्यशाला को डॉ पीपी गण, डॉ अभिषेक कुमार, मनोज कुमार, अशोक कुमार सहित काफी संख्या में मरीज उपस्थित थे.

Lead
City List: 
Share

Add new comment

loading...