Skip to content Skip to navigation

विश्व तीरंदाजी युवा चैम्पियनशिप में भारत को स्वर्ण, एक रजत और एक कांस्य भी मिला

News Wing

Rosario, 09 October: जैमसन एन और अंकिता भाकट की जोड़ी ने विश्व तीरंदाजी युवा चैम्नियनशिप में, रिकर्व टीम स्पर्धा का स्वर्ण पदक जीता और इस जीत के साथ ही भारत के खाते में टूर्नामेंट में कुल तीन पदक आ गये. युवा चैम्पियनयशिप में दीपिका कुमारी के 2009 और 2011 के खिताब के बाद भारत का यह पहला खिताब है. भारत ने एक रजत और एक कांस्य पदक भी जीता.

जैमसन ने कहा, कोच ने बहुत हौसलाअफजाई की. हमें जीतना ही था

जैमसन और भाकट की नौवी वरीयता प्राप्त जोड़ी ने शीर्ष वरीयता प्राप्त कोरियाई जोड़ी को क्वार्टर फाइनल में हराया. इससे पहले कल रूसी विरोधी को फाइनल में 6 . 2 से मात दी. जैमसन के अनुसार, कोच ने दोनों की बहुत हौसलाअफजाई की. हमें जीतना ही था. हमने काफी मेहनत की थी. उसने एस गजानन बाबरेकर और अतुल वर्मा के साथ पुरूष टीम वर्ग में भी रजत पदक जीता.

विश्व तीरंदाजी चैम्पियनशिप में भारत का चौथा पदक

भारत को कंपाउंड कैडेट महिला टीम ने कांस्य पदक दिलाया जब खुशबू दयाल, संचिता तिवारी और दिव्या धवल ने प्लेआफ में ग्रेट ब्रिटेन को 212 . 206 से शिकस्त दी. मिश्रित टीम का स्वर्ण विश्व तीरंदाजी चैम्पियनशिप में भारत का चौथा पदक है. दीपिका ने रिकर्व कैडेटवर्ग में 2009 में और रिकर्व जूनियर वर्ग में 2011 में खिताब जीता था. पाल्टन हंसदा ने 2006 में कंपाउंड जूनियर महिला वर्ग में स्वर्ण जीता था.

Share

Add new comment

loading...