Skip to content Skip to navigation

जीएसटी, नोटबंदी का असर शहरों की रीयल इस्टेट रैंकिंग पर: रपट

News Wing

Mumbai, 20 November : एक रपट के अनुसार माल व सेवा कर (जीएसटी) के कार्यान्वयन तथा नोटबंदी से न केवल जमीन जायदाद काोबार में नकदी की समस्या पैदा हुई बल्कि इसका असर शहरों के निवेश व विकास परिदृश्य पर भी पड़ा और उनकी रीयल इस्टेट रैंकिंग में ​गिरावट आई. यह सर्वेक्षण अर्बन लैंड इंस्टीट्यूट व पीडब्ल्यूसी ने संयुक्त रूप से किया है. इसेक अनुसार नोटबंदी व जीएसटी के शुरुआती असर देश के शहरों के निवेश व विकास परिदृश्य पर पड़ा है जो कि पिछले साल की प्रमुख स्थिति से बाहर हो गए.

यह भी पढ़ें : थरूर द्वारा उपनाम का मजाक उड़ाए जाने से निराशा नहीं: मानुषी छिल्लर

600 से अधिक रीयल्टी पेशेवरों की राय

यह रपट निवशकों सहित 600 से अधिक रीयल्टी पेशेवरों की राय पर आधारित है. पीडब्ल्यूसी इंडिया में पार्टनर अनीश सांघवी ने कहा-नोटबंदी, जीएसटी जैसे नियामकीय सुधारों व जमीन जायदाद विकास से जुड़े नियमों में बढोतरी का लगातार असर आवासीय क्षेत्र पर पड़ है. वर्ष 2018 के लिए तरजीही निवेश गंतव्यों की सूची में मुंबई को 12वें स्थान पर रखा गया है जो कि पिछले साल दूसरे पायदान पर था.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Lead
Share

Add new comment

loading...