Skip to content Skip to navigation

न्यूज विंग के जागरूक पाठक अपनी समस्या, अपने आस-पास हो रही अनियमितता की तस्वीर या कोई अन्य खबर फोटो के साथ वाहट्सएप नंबर - 8709221039 पर भेजे. हम उसे यहां प्रकाशित करेंगे.

डालटनगंज: पांकी डाक बंगला बना असामाजिक तत्वों का अड्डा, प्रशासन बेखबर

News Wing

Daltanganj, 24 October: जिले के पांकी प्रखंड मुख्यालय में जिन उद्देश्यों को लेकर सरकारी डाक बंगला का निर्माण किया गया था, वह आज तक पूरा नहीं हो पाया है. सुदूरवर्ती इलाका होने के कारण यहां डाकबंगले की नींव रखी गयी थी, लेकिन तीन वर्ष बीत जाने के बाद भी इस डाकबंगले का सुदपयोग नहीं हो पाया है.

असामाजिक तत्वों का अड्डा बना हुआ है डाकबंगला

पांकी चौक कर्पूरी चौक से महज 200 मीटर पर स्थित डाकबंगला आज शराबियों, जुआरियों व असामाजिक तत्वों का अड्डा बना हुआ है. आये दिन यहां जुआरियों का मेला लगा रहता है. दीपावली के दिन और उससे पहले तो यहां भारी संख्या में जुआरी जुटे नजर आए. 

डाकबंगला भवन का 13,55,300 रूपए की लागत मरम्मत कराया गया था

13वें वित्त आयोग सत्र 2013 -14 मद से इस डाकबंगला भवन का 13,55,300 रूपए की लागत मरम्मत कराया गया था. तीन साल बीत जाने के बाद भी भवन का उपयोग एक बार भी किसी सार्वजनिक कार्य के लिए नहीं किया गया. आज स्थिति यह है कि यह भवन शराबियों, जुआरियों, असामाजिक तत्वों के लिए सुरक्षित पनाहगाह बन गया है. इस भवन में लोग शौच भी करते हैं. 

बिजली के उपकरणों की चोरी तक कर ली गयी

भवन की स्थिति देखने से ही समझ में आ जाता है कि हर दिन यहां काफी संख्या में शराबी जुटते हैं और शराब पीते हैं. शराब की बोतलें जहां-तहां फोड़ी नजर आती है. भवन के कमरे में कई जगह मरम्मत किया हुआ फर्श, दीवार, दरवाजे असामाजिक तत्वों द्वारा तोड़ दिए गए हैं. बिजली के उपकरणों की चोरी तक कर ली गयी है.

अबतक इस पर नहीं गया प्रशासन का ध्यान

इस सार्वजनिक और सरकारी संपत्ति के बेहतर रख-रखाव की ओर अबतक ना तो प्रशासन का ध्यान गया है और ना ही किसी जनप्रतिनिधि ने ही आवाज उठायी है. इस भवन से नाता सिर्फ इसके मरम्मती तक था. जिसमें मरम्मति के नाम पर सरकारी राशि की बंदरबांट कर ली गयी. पांकी का डाकबंगला कोई पहला सरकारी भवन नहीं है, जिसके निर्माण के बाद उसका दुरूपयोग किया जा रहा है. जिले में कई ऐसे अन्य सरकारी भवन भी हैं, जिन्हें बनाया तो गया है, लेकिन उसके निर्माण के पीछे का उद्देश्य अबतक पूरा नहीं हुआ.

Lead
City List: 
Share

Add new comment

loading...