Skip to content Skip to navigation

न्यूज विंग के जागरूक पाठक अपनी समस्या, अपने आस-पास हो रही अनियमितता की तस्वीर या कोई अन्य खबर फोटो के साथ वाहट्सएप नंबर - 8709221039 पर भेजे. हम उसे यहां प्रकाशित करेंगे.

मुख्यमंत्री ने मुख्य सचिव का किया बचाव, कहाः सीएस ने नहीं कहा था कि आधार लिंक को ही मिलेगा राशन

News Wing Ranchi, 23 October: भूख से हुई मौत पर मुख्यमंत्री रघुवर दास ने राज्य के मुख्य सचिव के उस आदेश पर सफाई दी है जिसमें मुख्य सचिव ने सभी जिलों के उपायुक्त को आदेश दिया था कि बिना आधार लिंक वालों को राशन बंद कर दिया जाये. मुख्यमंत्री ने ना सिर्फ इस मामले में मुख्य सचिव को क्लीन चीट दी बल्कि झूठ भी बोला है. गौरतलब है कि खाद्य आपूर्ति मंत्री ने कैबिनेट में मुख्य सचिव के ऐसे आदेश को लेकर सवाल खडे किये थे. यही नहीं न्यूज विंग के पास मुख्य सचिव राजबाला वर्मा के उस आदेश की काॅपी भी है, जिसे पीआरडी ने जारी किया था. मुख्य सचिव ने साफ आदेश दिया है कि अगर आधार से लिंक नहीं है तो उसका राशन कार्ड कैंसिल कर दिया जाये. मुख्यमंत्री ने स्वीकार किया कि 11 लाख राशन कार्ड को कैंसिल कर दिया गया, लेकिन उसके बदले नौ लाख नये राशन कार्ड बनाये गये हैं. 

पढ़ें, वह पत्र, जिसमें सीएस ने दिया था आदेशः  सीएस राजबाला वर्मा ने 27 मार्च को दिया था आदेश- आधार से पीडीएस लिंक नहीं, तो राशन नहीं

यह भी पढ़ेंः रघुवर बोलेः सिमडेगा-झरिया में भूख से नहीं बीमारी से हुई मौत, विपक्ष कर रहा झारखंड को बदनाम

यह भी पढ़ेंः झरिया में आधार कार्ड और राशन कार्ड के नाम पर भोजन के अधिकार से वंचित हैं गरीब

आदिम जनजाति का भी आधार लिंक नहीं हुआ 

मुख्यमंत्री ने बताया कि आदिम जनजाति का आज भी आधार से लिंक नहीं है. लेकिन उनको डाकिया योजना के अंतर्गत बोरा में पैक कर 35 किलो अनाज दिया जा रहा है. आधार लिंक होने से बिचैलिये और भ्रष्टाचारियों पर लगाम लगेगी. उन्होंने फिर से कहा कि जिन लाभुकों का आधार लिंक नहीं हुआ है उनको राशन मिलेगा. 

  

यह भी पढ़ें: भूख से ही हुई संतोषी की मौत, पूरा परिवार कुपोषण का शिकार, सिमडेगा डीसी को निलंबित करने की मांग

 

Top Story
City List: 
Share

Add new comment

loading...