Skip to content Skip to navigation

बस ऑनर एसोसिएशन हुई दो फाड़, बनाया गया नया एसोसिएशन

News Wing Ranchi, 12 October:  बस ऑनर एसोसिएशन दो फाड़ हो गया है. गुरुवार को  चैंबर भवन में बस मालिकों ने बैठक की और नया एसोसिएशन बनाया. रांची जिला के नये संगठन का नाम बस ऑनर एसोसिएसन रांची रखा गया. मो. अशफाक आजम उर्फ शेरू को नये एसोसिएशन का अध्यक्ष मनोनीत किया गया. नये एसोसिएशन के सदस्यों ने  पुराने कमिटी पर कई आरोप लगाये. कहा कि पुराने कमिटी के अध्यक्ष 13 वर्ष से पद पर जमे हुए हैं. कार्यकारणी बैठक और  आम सभा नियमित नहीं हो रहा है. बस मालिकों की कठिनाइयों का निराकरण नहीं हो रहा है. इसलिए नये एसोसिएशन का गठन किया गया.  अरुण बुधिया को इसका संस्थापक अध्यक्ष चुना गया.  दोनो संगठन का संविधान और विस्तार इस माह के अंदर कर लिया जाएगा. गौरतलब है कि पहले की कमिटी में कृष्णा मोहन सिंह रांची अध्यक्ष और प्रदेश अध्यक्ष सचिदानंद सिंह हैं.

परिवहन विभाग की कार्यशैली से बस मालिक नाराज

बैठक में विभिन्न जिलों से आये बस मालिकों ने अपनी समस्याएं रखी. बस मालिको ने कहा कि परिवहन से जुड़े विभागो में निर्धारित समय के अंदर कार्रवाई नहीं होने के कारण वे अवैध तरीके से बस चलाने को मजबूर हैं. इसके कारण कई बार भारी नुकसान भी हो रहा है. बस मालिकों ने कहा कि परमिट के नवीकरण के लिए 15 दिन पहले आवेदन देने का प्रावधान है, लेकिन 4-5 महीना पहले भी आवेदन देने पर परमिट नवीकरण नहीं होता है. इसके अलावा 24 जिलों में मात्र 4 मोटरयान निरीक्षक होने के कारण दुरूस्ती प्रमाण पत्र मिलने में भी देर होता है. दुर्घटनाग्रस्त वाहनों की जांच में भी विलंब होता है, जबकि पड़ोसी राज्य बंगाल में यह कार्य काफी आसानी से होता है.

पड़ोसी राज्य के बस मालिक उठा लेते हैं लाभ

बस मालिकों ने कहा कि परमिट निर्गमन में भी राज्य परिवहन प्राधिकार द्वारा 5 मिनट के अंतराल पर परमिट निर्गत कर दिया जाता है, जिसका लाभ पड़ोसी राज्य के बस मालिक ले लेते हैं. सारी बातों के सामने आने के बाद बस ऑनर एसोसिएशन झारखंड का गठन किया गया. जिसके संस्थापक अध्यक्ष के रूप में अरूण बुधिया को मनोनीत किया गया. 

Lead
City List: 
Share

Add new comment

loading...