Skip to content Skip to navigation

आदिवासी छात्र मोर्चा ने घेरा जेपीएससी कार्यालय, कहा- नियमों की अनदेखी कर रहा JPSC

प्रधानाध्यापक साक्षात्कार को किया बाधित

NEWSWING

Ranchi, 12 October : आरक्षण निमयमावली को दरकिनार कर छठी जेपीएससी प्रारंभिक परीक्षा का रिजल्ट जेपीएससी ने जारी कर दिया है. राज्य के दलित और आदिवासी छात्रों का हक जेपीएससी मार रही है. आरक्षण नियमों की अनदेखी कर हर बार आयोग की ओर से रिजल्ट जारी किया जाता है. उक्त बातें जेपीएससी कार्यालय घेराव के दौरान जेवीएम नेता बंधु तिर्की ने गुरुवार को कही. घेराव कार्यक्रम का आयोजन आदिवासी छात्र मोर्चा के बैनर तले संजय महली के नेतृत्व में किया गया. केंद्रीय पुस्तकाल से रैली मार्च निकालकर छात्रों ने जेपीएसएस कार्यालय का घेराव गुरूवार दोपहर को किया. छात्रों ने जमकर जेपीएससी के खिलाफ नारे लगाये. इस दौरान संजय महनी ने कहा कि राज्य के गरीब छात्रों का हक आयोग के अधिकारी मार रहे हैं. बाहरी लोगों को यहां आयोग में नौकरी देने के लिए गहरी साजिश आधिकारियों द्वारा रची गयी है.

छात्रों के हंगामा से बाधित हुआ साक्षात्कार

जेपीएससी कार्यालय के समक्ष छात्रों के प्रदर्शन से आयोग में चल रहे कॉलेज के प्रधानाध्यापक साक्षात्कार पुरी तरह से बाधित हो गया. मौके पर जेपीएससी के सचिव जगजीत सिंह ने छात्रों से बातचीत की और आयोग द्वारा जारी किये रिजल्ट को सही बाताया.  उन्होंने कहा कि छठी जेपीएससी मुख्य परीक्षा नवबंर में जारी तिथि को लिया जायेगा. छात्रों का जेपीएससी पर आरोप पूरी तरह से न्यायसंगत नहीं है.

Top Story
City List: 
Share

Add new comment

loading...