बिहार के सीएम नीतीश के काफिले पर हमले मामले में 28 लोग गिफ्तार

Publisher NEWSWING DatePublished Mon, 01/15/2018 - 09:34

Patna : बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के काफिले पर गत शुक्रवार को हुए हमले के सिलसिले में बक्सर पुलिस ने 10 महिलाओं सहित 28 लोगों को गिरफ्तार किया है. बक्सर के पुलिस अधीक्षक राकेश कुमार ने बताया कि मुख्यमंत्री के काफिले पर पथराव मामले में अब तक 28 व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया है जिनमें 18 पुरुष और 10 महिलाएं शामिल हैं. उन्होंने बताया कि इस सिलसिले में 99 नामजद और 500-700 अज्ञात लोगों के खिलाफ डुमराव थाने में कुल पांच प्राथमिकी दर्ज की गयी हैं जिनमें से 28 लोग गिरफ्तार कर लिए गए हैं और बाकी की गिरफ्तारी के लिए प्रयास जारी हैं.

इसे भी पढ़ें- क्या अफसरों ने मुख्यमंत्री रघुवर दास को बकोरिया कांड के दोषियों की कतार में खड़ा कर दिया !

मामले की विस्तृत जांच की जायेगी

इस बीच, पटना प्रमंडल के आयुक्त आनंद किशोर जिन्होंने पटना प्रक्षेत्र के पुलिस महानिरीक्षक नैयर हसनैन खान के साथ शनिवार को वारदात स्थल का दौरा किया था, ने बताया कि यह पता लगाये जाने के लिए कि यह हमला सुनियोजित था अथवा नहीं और अगर था तो इसके पीछे कौन लोग थे, मामले की विस्तृत जांच की जायेगी.

इसे भी पढ़ें- बकोरिया कांड : एडीजी एमवी राव ने सरकार को लिखा पत्र, डीजीपी डीके पांडेय ने फर्जी मुठभेड़ की जांच धीमी करने के लिए डाला था दबाव

समीक्षा यात्रा के दौरान नीतीश के काफिले पर हुआ था हमला

गौरतलब है कि अपनी समीक्षा यात्रा के क्रम में गत शुक्रवार को बक्सर जिले के नंदन गांव पहुंचे नीतीश के काफिले पर स्थानीय लोगों द्वारा पथराव किया गया था. जिसमें मुख्यमंत्री तो बाल-बाल बच गये थे. पर कई सरकारी कर्मी घायल हो गये थे और कुछ वाहनों को क्षति भी पंहुची थी. हांलाकि अपुष्ट रिपोर्टों के अनुसार उक्त गांव के दलित अपनी शिकायत मुख्यमंत्री तक पहुंचाना चाहते थे पर प्रशासन के कथित तौर पर ऐसा करने की अनुमति दिये जाने से इनकार कर दिये जाने पर वे उग्र हो गये थे.

इसे भी पढ़ें- झारखंड के शीर्ष दो अफसरों पर संगीन आरोप, विपक्ष कर रहा कार्रवाई की मांग, सरकार की हो रही फजीहत, रघुवर चुप

राजद ने पुलिस कार्रवाई की आलोचना की

इस बीच, विपक्षी राजद जिस पर इस हमले के पीछे होने का सत्तारूढ़ जदयू और भाजपा द्वारा आरोप लगाया जा रहा है, ने इस वारदात के बाद पुलिस कार्रवाई की आलोचना की है. राजद के वरिष्ठ नेता जगदानंद सिंह, जो कि पूर्व में बक्सर लोकसभा क्षेत्र का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं रविवार को नंदन गांव का दौरा किया और राज्य सरकार पर गरीबों की आवाज को दबाने का आरोप लगाते हुए कहा कि हम सरकार को चेतावनी देना चाहेंगे कि राजद गरीब एवं दलितों के खिलाफ अन्याय बर्दाश्त नहीं करेगा. ये गरीब लोग अपने इलाके के विकास के लिए मुख्यमंत्री से आश्वासन का मात्र एक शब्द चाहते थे.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

loading...
Loading...

NEWSWING VIDEO PLAYLIST (YOUTUBE VIDEO CHANNEL)