आशीष नेहरा और गैरी कर्स्टन बने रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के कोच

Submitted by NEWSWING on Tue, 01/02/2018 - 13:06

Bengaluru : पूर्व भारतीय कोच गैरी कर्स्टन और हाल में संन्यास लेने वाले तेज गेंदबाज आशीष नेहरा को इंडियन प्रीमियर लीग के 11वें टूर्नामेंट के लिए रायल चैलेंजर्स बेंगलूर का क्रमश: बल्लेबाजी और गेंदबाजी कोच बनाया गया है.

न्यूजीलैंड के पूर्व स्पिनर डेनियल विटोरी मुख्य कोच पद पर बरकरार

लीग के दौरान कर्स्टन और नेहरा टीम के मेंटर की भूमिका भी निभाएंगे. कर्स्टन ने पिछले हफ्ते अनुबंध पर हस्ताक्षर किए. आईपीएल टीम के साथ यह उनका दूसरा कार्यकाल होगा. इससे पहले 2015 में वह दिल्ली डेयरडेविल्स को कोचिंग दे चुके हैं. आरसीबी ने न्यूजीलैंड के पूर्व स्पिनर डेनियल विटोरी को मुख्य कोच के रूप में बरकरार रखा है जो 2014 से टीम के साथ हैं.

इसे भी पढ़ें: 50% सेल वाली शॉप में दिखे विराट और अनुष्का, फैंस ने खूब किये कमेंट्स

27 और 28 जनवरी को होनी है आईपीएल की नीलामी

आईपीएल नीलामी 27 और 28 जनवरी को होनी है और ऐसे में ट्रेंट वुडहिल और एंड्रयू मैकडोनाल्ड की भूमिकाओं में बदलाव किया गया है. वुडहिल को बल्लेबाजी प्रतिभा विकास, विश्लेषण और क्षेत्ररक्षण कोच बनाया गया है. इसके अलावा वह आफ सत्र के दौरान फ्रेंचाइजी के लिए प्रतिभा तलाशने वाली टीम के प्रमुख होंगे. पहले गेंदबाजी कोच की भूमिका निभा चुके मैकडोनाल्ड अब गेंदबाजी प्रतिभा विकास और विश्लेषण प्रमुख होंगे.

आशीष नेहरा बने बॉलिंग कोच

उल्लेखनीय है कि संन्यास लेने के बाद आशीष नेहरा हिंदी कमेंट्री करते हुए दिख रहे हैं. लेकिन अब वह आरसीबी के गेंदबाजी कोच की भूमिका में नजर आएंगे. इस टीम के कप्तान विराट कोहली ही हैं. अभी तक आईपीएल में आशीष नेहरा डेविड वॉर्नर की कप्तानी में सनराइजर्स हैदराबाद के लिए खेला करते थे. हालांकि संन्यास के वक्त उन्होंने साफ कर दिया था कि वह अगले सीजन इस टूर्नामेंट में हिस्सा नहीं लेंगे. आईपीएल में हैदराबाद की टीम से जुड़ने से पहले आशीष नेहरा दिल्ली डेयरडेविल्स, मुंबई इंडियंस और चेन्नई सुपर किंग्स के लिए भी खेल चुके हैं.

इसे भी पढ़ें: स्मिथ के शतक से आस्ट्रेलिया ने चौथा एशेज टेस्ट कराया ड्रा

टीम को तेज गेंदबाजी में मिलेगी मदद

गौरतलब है कि आईपीएल के 10 सीजन खेलने के बाद भी आरसीबी अभी तक एक बार भी खिताब अपने नाम नहीं कर पाई है.  इस टीम के साथ अब आशीष नेहरा जुड़ गए हैं तो निश्चित रूप से वह टीम की तेज गेंदबाजी को नई धार देने में मदद जरूर करेंगे. 

गैरी कर्स्टन बने बल्लेबाजी कोच

इंडियन प्रीमियर लीग में गैरी कर्स्टन को कोचिंग का अच्छा-खासा अनुभव है. 2014 में तीन साल के लिए उन्होंने दिल्ली डेयरडेविल्स की टीम के साथ करार किया था. हालांकि, दिल्ली का प्रदर्शन पहले दो सालों में अच्छा नहीं रहा जिसकी वजह से 2015 में मैनजमेंट ने करार खत्म कर लिया था. 

2011 विश्व कप में भारतीय टीम के कोच थे कर्स्टन

साल 2008 में ग्रेग चैपल के जाने के बाद कर्स्टन भारतीय क्रिकेट टीम के कोच बन गए. उनकी कोचिंग में भारतीय टीम ने कॉफ़ी सफलता हासिल की. उनकी देखरेख में भारतीय टीम ने टेस्ट रैंकिंग में नंबर एक का पायदान हासिल किया. कस्टर्न की सबसे बड़ी सफलता भारतीय टीम को विश्व कप दिलाना रहा. उनकी कोचिंग में ही साल 2011 में भारतीय टीम ने 28 साल बाद विश्व कप का खिताब जीता था.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

 

 

loading...
Loading...