श्रीनगर में सुरक्षा बलों ने लश्कर के दो आतंकियों को किया ढेर

Publisher NEWSWING DatePublished Tue, 02/13/2018 - 18:45
श्रीनगर में सुरक्षा बलों ने लश्कर के दो आतंकियों को किया ढेर

श्रीनगर: सुरक्षा बलों ने सीआरपीएफ के शिविर पर हमला करने की आतंकवादियों की कोशिश नाकाम कर दी. सुरक्षा बलों और लश्कर के दो आतंकियों के बीच पिछले 32 घंटे से चल रही मुठभेड़ दोनों आतंकियों के ढेर होने के बाद मंगलवार की शाम समाप्त हो गई. शहर के बीचोंबीच स्थित करन नगर में एक निर्माणाधीन इमारत में छिपे आतंकियों को निकालने के लिए जम्मू कश्मीर के विशेष अभियान समूह और केन्द्रीय आरक्षी पुलिस बल ने मोर्चा संभाला.

मारे गये दोनों आतंकी हो सकते हैं लश्कर ए तैयबा के

कश्मीर के पुलिस महानिरीक्षक एसपी पाणि ने बताया कि जिन आतंकवादियों ने सोमवार की सुबह करन नगर इलाके में सीआरपीएफ के शिविर पर हमला करने का प्रयास किया था, वह लश्कर ए तैयबा आतंकी गिरोह से जुड़े थे. उन्होंने सीआरपीएफ अधिकारियों के साथ एक संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में कहा कि मुठभेड़ की जगह से हमें जो सामान मिले हैं, उससे लगता है कि आतंकी लश्कर से जुड़े थे, लेकिन आतंकवादियों की पहचान अभी नहीं हो पायी है और हम शिनाख्त करने की कोशिश कर रहे हैं. पाणि ने कहा कि यह आतंकियों के सफाये का अभियान था और यह इतना लंबा इसलिए चला, क्योंकि जिस इमारत में आतंकी छिपे हुए थे, वह एक पांच मंजिला ढांचा था.

इसे भी पढ़ें: लालू से अब सोमवार के बदले मंगलवार को मिल सकेंगे मुलाकाती

सुरक्षा बलों ने आतंकवादियों को देखते ही चलायीं गोलियां

सतर्क सुरक्षा बलों ने हमलावर आतंकवादियों को देखते ही उनपर तत्काल गोलियां चला दीं और सीआरपीएफ शिविर पर हमला करने की उनकी कोशिश को नाकाम कर दिया, जिसके बाद वह करन नगर इलाके की इस निर्माणाधीन इमारत में घुस गए. आतंकवादियों के साथ कल हुई शुरूआती गोलीबारी में सीआरपीएफ के एक जवान की मौत हो गई और एक पुलिसकर्मी घायल हुआ. मंगलवार की सुबह यह अभियान फिर से शुरू हुआ.

संतरी को सराहनीय काम के लिये किया जायेगा सम्मानित

सीआरपीएफ के महानिरीक्षक के अनुसार सुरक्षा बलों ने इलाके की व्यापक पड़ताल की और अभियान शुरू करने से पहले रणनीति बनायी. उन्होंने कहा कि हमने सीआरपीएफ कर्मियों के पांच परिवारों और कुछ नागरिकों को बचाया और इमारत से सबको बाहर निकाल लेने के बाद आतंकवादियों के खिलाफ निर्णायक अभियान शुरू किया. उन्होंने उस सजग संतरी की सराहना की, जिसने आतंकवादियों के इस फिदायीन हमले को नाकाम किया. यह पूछे जाने पर कि क्या इमारत में और आतंकी छिपे हो सकते हैं, उन्होंने कहा कि संतरी ने सिर्फ दो ही आतंकवादियों का देखा था. संतरी ने शानदार काम किया है और हम उसे सम्मानित करेंगे.
न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.