रांचीः खुदरा पैसे देने पर सिटी बस के कंडक्टर ने छात्रा को बस से उतारा

Publisher NEWSWING DatePublished Sat, 01/20/2018 - 19:44

Ranchi: रांची नगर निगम के अंतर्गत चलने वाले सिटी बस के कंडक्टर ने एक छात्रा को बस से महज इसलिए उतार दिया, क्योंकि उसने खुदरा पैसा दिया था. कंडक्टर ने डोरंडा कॉलेज की छात्रा से किराए के तौर पर खुदरा पैसा लेने से इंकार कर दिया. इसके बाद भी जब छात्रा ने एक और दो रुपये के सिक्के दिये तो कंडक्टर ने छात्रा को बस उतार दिया. यह कहने पर भी उसके पास खुदरे पैसे के अलावा कुछ नहीं है, फिर भी सिटी बस के कंडक्टर ने एक न सुनी.

सिटी बस के कंडक्टर आये दिन करते हैं मनमनी

इस संबंध में डोरंडा कालेज में पढ़ने वाली छात्रा तन्नु कुमारी ने बताया कि वह डोरंडा कॉलेज की छात्रा है. वह कॉलेज की पढ़ाई समाप्त करने के बाद अपने घर कोकर आने के लिए डोरंडा में एक सिटी बस संख्या जेएच 01 एएफ  6969 पर बैठी. इसके बाद कंडक्टर आया और किराया मांगने लगा. तब उसने कंडक्टर को एक-दो और पांच रूपये का सिक्का दिया. इस पर कंडक्टर ने उससे कहा कि एक और दो रूपये का सिक्का नहीं चल रहा है. इसलिए वह पांच या 10 रूपये का नोट देतो छात्रा ने कहा कि उसके पास यही चेंज है. इसपर उक्त बस के कंडक्टर ने उसे वहीं उतार दिया.

इसे भी पढ़ेंः अधिकारीगण सावधान ! सोच-समझ कर मुस्कुराइए आप विधानसभा में हैं, हंगामा हो सकता है...

नगर आयुक्त ने कहा होगी कार्रवाई

छात्रा ने यह भी बताया कि सिटी बस के अधिकतर कंडक्टर एक और दो रूपये का सिक्का नहीं ले रहे हैं. जिस कारण आये दिन छात्राओं से बस कंडक्टरों से बकझक होती है. इतना ही नहीं उक्त कंडक्टर ने कई अन्य यात्रियों को भी एक और दो रूपये का सिक्का देने पर बस से उतार दिया. वहीं इस संबंध में रांची नगर निगम के सीईओ डॉ शांतनु अग्रहरि ने कहा कि इस तरह की बात सामने आयी है. वह इस मामले में पूछताछ कर उक्त कंडक्टर पर उचित कार्रवाई करेंगे. 

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.