रघुवर सरकार के नियुक्ति पत्र वितरण से पहले सामने आयीं कई गड़बड़ियां, छोटे आउटलेट्स ने तैयार कर रखे हैं सैकड़ों ऑफर लेटर

Submitted by NEWSWING on Thu, 01/11/2018 - 19:42

Subhash Shekhar, Ranchi : झारखंड की रघुवर सरकार 12 जनवरी 2018 को एक बार में 25 हजार नियुक्ति पत्र बांटने जा रही है. राष्‍ट्रीय युवा दिवस, स्‍वामी विवाकानंद जयंती के मौके पर झारखंड सरकार निश्चित तौर पर कीर्तिमान बनाने जा रही है, वहीं इस स्किल समिट 2018 के आयोजन को लेकर गड़बडि़यां सामने आ रही हैं. इस आयोजन के दौरान झारखंड में स्थित रिटेल आउटलेट जिसके एक या दो ब्रांच है, वहां के लिए युवाओं के बीच नियुक्ति पत्र बांटने के लिए सैकड़ों ऑफर लेटर तैयार कर ली गयी है. न्‍यूज विंग के हाथ लगे 5 जनवरी 2018 तक के आंकड़े के मुताबिक नामचीन ब्‍यूटी सलून कंपनी जावेद हबीब ने झारखंड के लिए 166 युवाओं को नियुक्ति पत्र देने के लिए सेलेक्‍ट किया था. यह आंकड़ा 12 जनवरी 2018 तक और बढ़ सकता है. इसी तरह राइज केयर में 78 युवाओं को नियुक्ति पत्र देने के लिए सेलेक्‍ट कर लिया गया था.

इसे भी पढ़ेंः रघुवर दास सीएस राजबाला वर्मा पर एहसान नहीं कर रहे, बल्कि एहसान का बदला चुका रहे हैं : विपक्ष

संदेह के घेरे में कंपनियों का वेरिफिकेशन

बड़ा सवाल यह है कि रांची में आयोजित स्किल समिट 2018 में नियुक्ति पत्र देने के लिए जिन कंपनियों के प्रतिनिधियों को आमंत्रित किया गया है उनका वेरिफिकेशन संदेह के घेरे में है. दूसरा सवाल यह है कि क्‍या इस आयोजन में शामिल कंपनियां युवाओं को झारखंड के शहरों में ही नियुक्‍त करेंगे या राज्‍य के बाहर के शहरों में कुछ हजार के मानदेय पर भेजेंगे.

इसे भी पढ़ेंः रांची में मेयर से ज्यादा डिप्टी मेयर के लिए बीजेपी में दावेदारी

सिर्फ तीन ब्यूटी सलून में कैसे समायोजित होंगे सैकड़ों लोग

जावेद हबीब जैसे ब्‍यूटी सलून जो सैकड़ों युवाओं को नियुक्ति पत्र देने जा रहे हैं, वह कैसे सिर्फ रांची के तीन आउटलेट ब्रांच में युवाओं को समायोजित करेंगे. यह गौर करने वाली बात है कि महज तीन ब्‍यूटी सलून में कितने कर्मचारी रखे जा सकेंगे.

इसे भी पढ़ेंः संघर्ष से शिखर तक पहुंचने वाले दो राजनीतिक धुरंधरों का बर्थडेः 74 के हुए शिबू सोरेन, बाबूलाल मरांडी की 60वीं सालगिरह

स्किल समिट 2018 में बड़ी गड़बड़ी की आशंकाः कुणाल

आरटीआई कार्यकर्ता कुणाल बताते हैं कि रांची में आयोजित स्किल समिट 2018 में बड़ी गड़बड़ी हो रही है. वहां शामिल कंपनियां इंटरव्‍यू के लिए आये युवाओं से उनके परिवार के आर्थिक स्थिति के बारे में भी पूछ रहे हैं. आगे यह भी संभव है कि जो कंपनियां नियुक्ति पत्र दे रहे हैं, वह नौकरी देने के पहले कहीं फिर से कोई नई ट्रेनिंग की शर्त न रख दें और उसके लिए फीस के एवज में मोटी रकम वसूल करें.

इसे भी पढ़ेंः आदिवासी छात्र संगठनों के रांची बंद का आंशिक असर, आदिवासी हॉस्टल से हिरासत में लिये गये सैकड़ों छात्र

कौशल विकास के तहत दिया गया है 58,800 युवाओं को प्रशिक्षण

आंकड़ों के मुताबिक पिछले दो साल में पूरे झारखंड में कौशल विकास योजना के तहत 58,800 युवाओं को अगल-अलग क्षेत्र में रोजगार के लिए प्रशिक्षित किया गया. अभी भी प्रशिक्षण चल रहा है. रांची के होटवार स्थित बिरसा मुंडा स्‍टेडियम में प्रशिक्षुओं की भीड़ जुटी है. ब्‍यूटी और हेल्‍थ केयर के लिए ही पूरे झारखंड में 16,140 युवाओं को कौशल विकास योजना के तहत प्रशिक्षण दिया गया है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Main Top Slide
City List of Jharkhand
loading...
Loading...