रिम्स में नर्सों की हड़ताल के कारण मरीज परेशान, मेदांता से मुक्त करा रिम्स लाये गये अयूब अली को दूसरे अस्पताल ले गये परिजन

Publisher NEWSWING DatePublished Mon, 02/12/2018 - 09:30

Ranchi: एम्स की तर्ज पर वेतन दिये जाने की मांग और रिटायरमेंट की उम्र सीमा 65 वर्ष करने की मांग को लेकर रात 12 बजे से रिम्स की नर्सें हड़ताल पर चली गयी हैं. नर्सों की हड़ताल के कारण रिम्स में भर्ती मरीजों का इलाज बाधित हो रहा है. साथ ही हर रोज भारी संख्या में आनेवाले मरीजों को भी मायूस होना पड़ रहा है. यहां भर्ती कई मरीज तो दूसरे अस्पताल का रूख करने को मजबूर हैं. 

इसे भी पढ़ेंः 16 दिन रिम्स के मेडिसिन वार्ड में इलाज कराया, यूरोलॉजी विभाग ने भर्ती करने से इंकार किया, आखिर में जिंदगी की जंग हार गया राजेन्द्र राम (देखें वीडियो)

400 से ज्यादा नर्सें हड़ताल पर

झारखंड के सबसे बड़े सरकारी अस्पताल रांची स्थित 'रिम्समें आज रात 12 बजे से 400 से ज्यादा नर्सें हड़ताल पर चली गयीं. वहीं रांची के मेदांता अस्पताल से दस लाख रूपये बकाये बिल का भुगतान नहीं कर पाने के कारण बंधक बने लातेहार के वृद्ध किसान अयूब अली को मुख्यमंत्री रघुवर दास के प्रयास से मुक्त कराकर बेहतर इलाज के लिए रिम्स के ट्रॉमा सेंटर में भर्ती कराया गया गया था. लिकन आज देर रात से रिम्स की नर्सें हड़ताल पर चली गयी तथा अयूब अली की स्थिति और भी बिगड़ने लगी, जिसके बाद उनके परिजनों ने उन्हें दूसरे अस्पताल में भर्ती कराया है.

बेहतर इलाज नहीं हो पाने से अयूब अली के शरीर में इंफेक्शन हो रहा

अयूब अली के परिजनों का यह कहना कि अब यहां की नर्सें भी हड़ताल पर चली गई है. जिस कारण मजबूरी में इन्हें दूसरे प्राईवेट अस्पताल में ले जाना पड़ रहा है. परिजनों के अनुसार रिम्स में बेहतर इलाज नहीं हो पाने से अयूब अली के शरीर में इंफेक्शन भी हो रहा है. परिजनों ने अयूब अली को रिम्स से सटे बरियातू के लेक व्यू नर्सिंग होम के जेनरल वार्ड में एडमिट किया गया है.

इसे भी पढ़ेंः पाकुड़ : कुख्यात नक्सली पुलिस हेम्ब्रम चढ़ा पुलिस के हत्थे, भेजा गया जेल

एम्स के अनुसार वेतन दिया जाने की मांग

आंदोलन कर रही नर्सों की मांगेहैं कि उन्हें एम्स के तर्ज पर वेतन दिया जाये. रिटायरमेंट की उम्र सीमा 65 वर्ष की जाये और आउटसोर्सिंग से नर्सोकी बहाली को रोका जाये. नर्सों के एसोसिएशन की अध्यक्ष ने कहा कि हम अपनी मांगों को लेकर अडिग हैं. उल्लेखनीय है कि रविवार को रिम्स की नर्सो ने तख्तियां लेकर अस्पताल के बाहर प्रदर्शन भी किया.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.