पलामू: धनबाद रेल मंडल का कजरी रेलवे स्टेशन बना मवेशियों का चारागाह, टीआई ने कहा होगी कार्रवाई

Publisher NEWSWING DatePublished Wed, 02/14/2018 - 13:33

Daltonganj: धनबाद रेलमंडल में एक ऐसा भी रेलवे स्टेशन है, जिसके प्लेटफार्म पर लोग गाय चराया करते हैं. सुनने में भले ही यह अटपटा लगे, लेकिन बात बिलकुल सच है. हम बात कर रहे हैं पलामू जिले में अवस्थित कजरी रेलवे स्टेशन की. दिन भर यहां मवेशी चरते हैं, जिससे हमेशा दुर्घटना की संभावना बनी रहती है. मॉडल स्टेशन डालटनगंज से करीब ही कजरी रेलवे स्टेशन है. यह स्टेशन कजरी जिले के पंडवा थाना क्षेत्र में पड़ता है. सोमवार हो या फिर मंगलवार यहां हर दिन स्थानीय ग्रामीण अपने मवेशियों को लेकर पहुंचते हैं और दिन भर स्टेशन परिसर में मवेशियों को बांधकर या खुला छोड़कर चराते हैं.

कोई कार्रवाई नहीं

यह सिलसिला लंबे समय से चल रहा है, लेकिन मवेशी चरवाहों पर अबतक कोई कार्रवाई नहीं की गयी है. वहां गाय चरा रहे बासुदेव मिस्त्री नामक एक व्यक्ति से जब बात की तो उसने बताया कि वे लोग प्रतिदिन प्लेटफार्म पर आकर गाय चराते हैं.

शौचालय की मुकम्मल व्यवस्था नहीं    

संभवतः यह देश का पहला रेलवे प्लेटफार्म होगा, जिसका अस्तित्व चारागाह के रूप में है. इस प्लेटफार्म पर ना तो शौचालय की मुकम्मल व्यवस्था है और ना ही फुटब्रिज का ही निर्माण हुआ है. इतना ही नहीं यात्रियों के लिए यहां शेड भी नहीं है और विकलांगों के लिए तो कोई व्यवस्था ही नहीं की गयी है. एक अनुमान के अनुसार इस स्टेशन से हर दिन चार से पांच हजार टिकटों की बिक्री होती है. स्टेशन और उसके आस-पास क्षेत्र में किसी तरह की सुविधा नहीं है, नतीजन ऐसे मामले सामने आते हैं. 

पीडब्ल्यूआई ने रोया कर्मियों का रोना

पीडब्ल्यूआई एसके पॉल से बात की, तो उन्होंने मामले को देखने की बात की. उन्होंने मैन पावर की कमी का भी रोना रोया. हालांकि उन्होंने कहा कि जल्द ही सफाई की जायेगी, ताकि यह स्टेशन मवेशियों का चारागाह न बने.

shochalay

सामाजिक कार्यकर्ता ने उठाया सवाल

अभिभावक संघ के अध्यक्ष और सामाजिक कार्यकर्ता किशोर कुमार पांडेय ने मामले को गंभीर बताया है. वे स्टेशन के आसपास के दृश्य को देखकर अचंभित हो गये. भाजपा नेता और सुप्रीम कोर्ट के अधिवक्ता श्री पांडेय ने इस मामले में उचित कार्रवाई करने की मांग रेलवे अधिकारियों से की है.

होगी कार्रवाई: टीआई

डालटनगंज के यातायात निरीक्षक ए.के सिन्हा ने कहा कि मामला काफी गंभीर है. जो लोग अनाधिकृत रूप से अपने मवेशियों को स्टेशन परिसर में लाकर उन्हें चरा रहे हैं, उनकी पहचान की जा रही है. स्टेशन की साफ-सफाई की जायेगी, ताकि मवेशी प्लेटफार्म तक नहीं पहुंचें और किसी तरह की अप्रिय घटना ना हो. आरपीएफ को इस दिशा में कार्रवाई का निर्देश दिया गया है.