सुबह आवास खाली करने का नोटिस-शाम को घटाई गई सुरक्षा, राबड़ी ने नीतीश कुमार को लिखा पत्र

Publisher NEWSWING DatePublished Wed, 04/11/2018 - 13:50

Patna: बिहार के पूर्व सीएम राबड़ी देवी के आवास पर सुरक्षा कम किये जाने पर उनके बेटे और नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने नाराजगी जताई है. तेजस्वी ने आपत्ति जताते हुए कहा कि सुबह मुझे आवास खाली करने के लिए नोटिस भेजा जाता है, शाम को परिवार की सुरक्षा घटा दी जाती है. इस निर्णय से नाराज तेजस्वी ने कहा कि पूर्व सीएम की हैसियत से प्राप्त राबड़ी देवी, नेता प्रतिपक्ष के नाते उन्हें मिली सुरक्षा को वे राज्य सरकार को वापस करते हैं. साथ ही विधायक के नाते उनके बड़े भाई तेजप्रताप को मिली सुरक्षा भी राज्य सरकार वापस ले ले. कहा कि हम गरीब जनता के बीच रहते हैं और जनता ही हमारी असल प्रहरी है. इधर सुरक्षा घटाये जाने से नाराज राबड़ी देवी ने मुख्यमंत्री को चिट्ठी लिखी है.

इसे भी पढ़ें:किस बात का संकेत देती है बीजेपी की बेतहाशा कमाई ? दो साल के अंदर आय में 81% की उछाल

उन्होंने कहा कि देर रात जारी बयान में राज्य सरकार पर निशाना साधा हुए तेजस्वी प्रसाद ने कहा कि पिछले दस माह से सुरक्षा बढ़ाने और उसकी श्रेणी निर्धारित करने के लिए गृह विभाग को लिखा जा रहा है, लेकिन सुरक्षा बढ़ाने की जगह घटायी जा रही है. सीबीआई की पूछताछ के बाद सुरक्षा में कटौती का आदेश दिया जाना साजिश की तरफ इशारा करता है.


रची जा रही साजिश: तेजस्वी

पूरे घटनाक्रम को लेकर तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर विरोधियों पर निशाना साधा और इसे साजिश करार दिया है. उन्होंने लिखा है कि विगत 10 महीने से सुरक्षा श्रेणी निर्धारित करने व उसे बढ़ाने के लिए कई बार गृह विभाग को लिखा गया है. लेकिन राजनीतिक विद्वेष के कारण सुरक्षा बढ़ाये जाने की बजाये घटायी जा रही है. उन्होंने कहा कि सीबीआई की पूछताछ के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा सुरक्षा गार्ड हटाया जाना बड़ी साजिश है. तेजस्वी ने यह भी कहा कि हम डरपोक नहीं हैं, जो अपनी सुरक्षा में 800 जवान तैनात रखते हैं. लौटाए गए सुरक्षाकर्मियों को नीतीश कुमार अपनी सुरक्षा में तैनात कर लें. हम तो गरीब जनता के बीच रहने वाले लोग हैं.

विशेष शाखा के निर्देश पर हटी सुरक्षा: ADG

पूर्व सीएम की सुरक्षा घटाये जाने के संबंध में एडीजी (मुख्यालय) एसके सिंघल ने बताया कि लालू प्रसाद और राबड़ी देवी के सरकारी आवास से सुरक्षा वापस लेने का निर्णय विशेष शाखा की समिति ने लिया है. सिंघल ने बताया कि विशेष शाखा की सुरक्षा समिति ही राज्य में किसी भी गणमान्य व अति विशिष्ट लोगों की जान पर खतरा और उनकी सुरक्षा का आकलन करती है. समय-समय पर इस समिति की बैठक में गणमान्य व अतिविशिष्ट लोगों की जान पर खतरा और उनकी सुरक्षा की समीक्षा की जाती है. लालू प्रसाद और राबड़ी देवी के सरकारी आवास पर सुरक्षाकर्मियों की तैनाती व उनकी संख्या का निर्धारण भी इसी समिति के द्वारा किया जाता है. समिति ने लालू प्रसाद और राबड़ी देवी की सुरक्षा की समीक्षा के बाद यह फैसला लिया है.

इसे भी पढ़ें:मुख्यमंत्री जी 27 हजार को तो ज्वाइन करा नहीं पाए, अब मात्र छह महीने में एक लाख युवाओं को रोजगार देने का कर रहे वादा

आवास खाली करने का मिला नोटिस
तेजस्वी प्रसाद को सरकारी आवास पांच देशरत्न मार्ग खाली करने को नोटिस जारी की गई है. अपने बयान में नेता प्रतिपक्ष ने यह जानकारी दी. उन्होंने कहा कि उन्हें सरकारी आवास खाली करने को नोटिस भेजी गई. उल्लेखनीय है कि उपमुख्यमंत्री के नाते पांच देशरत्न मार्ग का बंगला सुशील कुमार मोदी को दिया जाना है. तेजस्वी को मोदी का एक पोलो रोड का बंगला दिए जाने की बात है. इसको लेकर भवन निर्माण विभाग ने पहले भी कई बार नोटिस जारी की है. इसको लेकर खींचतान जारी है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

loading...
Loading...