सूचना आयोग ने प्रधानमंत्री कार्यालय से RTI आवेदनों के जवाब में देरी का कारण बताने को कहा

Publisher NEWSWING DatePublished Fri, 01/12/2018 - 18:41

New Delhi : मुख्य सूचना आयुक्त आरके माथुर ने प्रधानमंत्री कार्यालय को सूचना आयुक्तों की नियुक्ति, आरटीआई से जुड़े मामलों में अर्जियों के हस्तांतरण में देरी के लिए कारण बताने का निर्देश दिया है. कमोडोर लोकेश बत्रा (सेवानिवृत्त) की याचिकाओं पर यह आदेश आया जिन्होंने अपने चार आरटीआई आवेदनों के माध्यम से सूचना आयुक्तों की नियुक्ति, 2017 के प्रस्तावित आरटीआई नियमों और प्रधानमंत्री के यात्रा बिल आदि से संबंधित फाइल नोटिंग का ब्योरा मांगा था.

इसे भी पढ़ें : संक्षेप में जानें क्या लिखा है पत्र में चीफ जस्टिस को चार वरिष्ठ जजों ने

पीएमओ से संबंधित सूचना मांगी थी

सूचना के अधिकार कानून के अनुसार जब किसी सरकारी प्राधिकार से कोई सूचना पाने के लिए आवेदन किया जाता है और सूचना किसी दूसरे प्राधिकार के पास हो या उसकी विषय सामग्री किसी अन्य सार्वजनिक प्राधिकार के कामकाज से जुड़ी हो तो आवेदन को हस्तांतरित किया जाता है. आरटीआई कानून की धारा 6(3) कहती है, ‘‘बशर्ते कि इस उप-धारा के अनुसार किसी आवेदन का हस्तांतरण जल्द से जल्द किया  जाएगा, लेकिन किसी भी मामले में आवेदन मिलने की तारीख से पांच दिन के बाद नहीं.’’ बत्रा ने कहा कि उन्होंने केवल पीएमओ के रिकार्ड से संबंधित सूचना के लिए अनुरोध किया था.

इसे भी पढ़ें : जज लोया की संदिग्ध मौत का मामला गंभीर, स्वतंत्र जांच की मांग पर महाराष्ट्र सरकार दे जवाब : सुप्रीम कोर्ट (पढ़ें विस्तृत रिपोर्ट)

सूचना देने में देरी के पीछे की बदनीयती

सुनवाई के दौरान बत्रा ने कहा कि उन्होंने पीएमओ के केंद्रीय लोक सूचना अधिकारी (सीपीआईओ) द्वारा सूचना देने में लंबी देरी रोजाना की बात बन जाने का अनुभव किया. माथुर ने बत्रा की दलीलों का उल्लेख करते हुए अपने आदेश में कहा, ‘‘वे लगातार ऐसा कर रहे हैं, जबकि उनके पहले के मामलों में चेतावनी के साथ निर्देश दिये गये हैं.’’ पीएमओ के सीपीआईओ ने आयोग को बताया कि सूचना देने में देरी बदनीयती से नहीं हुई. माथुर ने अपने चारों आदेशों में कहा, ‘‘प्रतिवादी (पीएमओ) को आरटीआई कानून के अनुसार आदेश प्राप्त करने की तारीख से 30 दिन के अंदर आरटीआई आवेदन को हस्तांतरित नहीं करने के लिए लिखित में कारण बताने का निर्देश दिया जाता है.’’

इसे भी पढ़ें : 13 माह में भी मोदी ने नहीं दिया मिलने का समय, अब भाजपा अटल-आडवाणी के जमाने वाली नहीं : यशवंत सिन्हा

top story (position)
7ocean

 

international public school

 

TOP STORY

हजारीबाग डीसी तबादला मामला : देखें कैसे बीजेपी के जिला अध्यक्ष कर रहे हैं कन्फर्म  

न्यूज विंग की खबर का असर :  फर्जी  शिक्षक नियुक्ति मामले में तत्कालीन डीएसई दोषी करार 

बिजली बिल के डिजिटल पेमेंट से मिलता है कैशबैक, JBVNL नहीं शुरू कर पायी है डिजिटल पेमेंट की व्यवस्था

स्वीकार है भाजपा प्रदेश अध्यक्ष की खुली बहस वाली चुनौती : योगेंद्र प्रताप

लाठी के बल पर जनता की भावनाओं से खेल रही सरकार, पांच को विपक्ष का झारखंड बंद : हेमंत सोरेन   

सुप्रीम कोर्ट का आदेश : नहीं घटायी जायेंगी एमजीएम कॉलेज जमशेदपुर की मेडिकल सीट

मैट्रिक व इंटर में ही हो गये 2 लाख से ज्यादा बच्चे फेल, अभी तो आर्ट्स का रिजल्ट आना बाकी  

बीजेपी के किस एमपी को मिलेगा टिकट, किसका होगा पत्ता साफ? RSS बनायेगा भाजपा सांसदों का रिपोर्ट कार्ड

आतंकियों की आयी शामतः सीजफायर खत्म, ऑपरेशन ऑलआउट में दो आतंकी ढेर- सर्च ऑपरेशन जारी

दिल्ली: अनशन पर बैठे मंत्री सत्येंद्र जैन की बिगड़ी तबियत, आधी रात को अस्पताल में भर्ती

भूमि अधिग्रहण पर आजसू का झामुमो पर बड़ा हमला, मांगा पांच सवालों का जवाब