आईजी ऑपरेशन आशीष बत्रा : सरेंडर नहीं किया तो एनकाउंटर में नक्सलियों का मरना तय (देखें वीडियो)   

Publisher NEWSWING DatePublished Fri, 01/19/2018 - 16:17

Latehar : जिले के सदर थाना क्षेत्र के जेर गांव में बीते बुधवार को झारखण्ड जगुआर के पुलिस जवानों और जेजेएमपी के बीच हुए भीषण मुठभेड़ हुआ. इस मुठभेड़ में जेजेएमपी का एरिया कमांडर गुड्डू यादव मारा गया था. पुलिस की इस बड़ी उपलब्धी के के बाद शुक्रवार को डीजीपी डीके पाण्डे, आईजी ऑपरेशन आशीष बत्रा, एडीजी स्पेशल ब्रांच अनुराग गुप्ता, आई जी सीआरपीएफ संजय आनंद लटकर लातेहार पहुंचे. इन्होंने मुठभेड़ में शामिल जवानों का हौसला बढ़ाया और उन सबको दस-दस हजार रुपये का चेक दिया. साथ ही इस ऑपरेशन को लीड कर रहे झारखण्ड जगुआर के निरीक्षक को बीस हजार के चेक के साथ बहादुरी पुरस्कार पत्र प्रदान किया.

इसे भी पढ़ें - लातेहार : पुलिस और जेजेएमपी में हुए मुठभेड़ में कुख्यात उग्रवादी गुड्डू यादव ढ़ेर, इलाके में सर्च अभियान जारी (देखें वीडियो)    

मुठभेड़ में चार-पांच उग्रवादियों को गोली लगने की भी सूचना

वहीं मीडिया को संबोधित करते हुए ऑपरेशन आईजी आशीष बत्रा ने बताया कि बुधवार को हुए मुठभेड़ में एक उग्रवादी मारा गया और उसका शव भी बरामद किया गया है. साथ ही उन्होंने बताया कि मुठभेड़ में चार-पांच उग्रवादियों को गोली लगने की भी सूचना मिली है. बत्रा ने बताया कि बेहतर और उत्कृष्ट कार्य करने वाले जवान हमेशा सम्मानित किये जाते हैं. ऑपरेशन आईजी ने आगे बताया कि नक्सली-उग्रवादी के सामने सुनहरा मौका है कि वह सभी सरेंडर कर दें. जिससे उन्हें सरेंडर पॉलिसी का भरपूर लाभ मिले, नहीं तो अभियान के दौरान सामना हुआ तो एनकाउंटर में उनका मरना तय है. बत्रा ने इस कॉफ्रेंस में बताया कि वर्ष 2017 में कुल 608  नक्सली- उग्रवादी गिरफ्तार किये गये हैं. जबकि 12 एनकाउंटर में ढेर हुए है और 47 नक्सली-उग्रवादी ने सरेंडर किया है. साथ ही उन्होंने बताया कि इस वर्ष 40 शीर्ष उग्रवादियों की संपत्ति भी जब्त की तैयारी भी झारखण्ड पुलिस ने की है. झारखंड पुलिस ने सिर्फ हथियार सप्लाई का कनेक्शन ही नहीं काटा है साथ ही साथ नक्सली-उग्रवादी तक फंड पहुंचने वाले कनेक्शन को भी तोड़ा गया है.

इसे भी पढ़ें - बुधवार की रात क्या सरयू राय और रघुवर दास के बीच राजबाला वर्मा को लेकर हुई थी गरमा-गरम बहस

उल्लेखनीय है कि बीते बुधवार को पुलिस और जेजेएमपी के बीच देर गांव में भीषण मुठभेड़ हुआ था , जिसमें कुख्यात उग्रवादी गुड्डू यादव मारा गया था. मुठभेड़ में मारा गया उग्रवादी गुड्डू यादव मनिका थाना के कुई गांव का रहनेवाला था. पुलिस को ये सफलता सदर थानाक्षेत्र में देर रात शुरू हुए मुठभेड़ में मिली. इलाके में डीआईजी बिपुल शु्क्ला के साथ ही अन्य अधिकारी सर्च अभियान में लगे रहे. घटनास्थल से जवानों ने एके 56 सहित दस रेगुलर आधुनिक हथियार बरामद किया था. हथियारों में एक एके 56 ,एक एसएलआर, दो इंसास के अलावा दो 3.15, दो 7.62 और दो यूएस कि बनी रायफल 9.80  राउंड का जिन्दा कारतूस सहित अन्य सामान बरामद किये गया था.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.