हजारीबाग जेल में भोजन कटौती पर भड़के बंदी, टकराव की स्थिति, कटौती के पीछे बंदरबांट की साजिश तो नहीं!

Publisher NEWSWING DatePublished Mon, 02/19/2018 - 16:37

Hazaribagh: हजारीबाग के जयप्रकाश नारायण केंद्रीय कारा में बंदियों के बीच टकराव की स्थिति बनी हुई. पर्व-त्योहार के नाम पर होनेवाले भेजन की कटौती के मामले पर बंदी दो गुट में बंट गये हैं और आपस में ही भिड़ने को तैयार हैं. यह भी कहा जा रहा है कि जेल के अंदर जेलर के करीबी बंदियों की मनमानी बढ़ गयी है. वहीं कैदियों के भोजन में कटौती कर लाखों रूपये के बंदरबांट का खेल यहां खेले जाने की बात भी सामने आ रही है.

जानें क्या है पूरा मामला

जयप्रकाश नारायण केंद्रीय कारा पिछले साल से ही कई कारणों से सुर्खियों में रह रहा है. विभिन्न कारणों से राज्य मुख्यालय की नजर इस जेल पर रहती है. हालांकि काराधीक्षक हामिद अख्तर के आने के बाद से बंदियों की कई पुरानी मांगो को पूरा किया गया है और बंदियों के लिए कई नये कार्य किये जा रहे हैं. इसी बीच एकबार फिर पर्व-त्योहार के नाम पर बंदियों के छह सप्ताह का मीट और दही काटने से बंदी भड़क गये हैं. इस बात पर बंदी दो गुट में बंट गये हैं. खबर है कि मामले को लेकर जेल के भीतर कभी भी बंदी आपस में ही भीड़ सकते हैं.

इसे भी पढ़ेंः हजारीबाग जेल के कैदियों ने CCTV कैमरा लगाने का किया विरोध, कहा- 'गरिमा के साथ जीने का माहौल दें'

इसे भी पढ़ेंः हजारीबाग जेल के कैदियों का होगा इन्टरटेनमेंटः 72 वार्डों में लगा डिश टीवी और 18 सेटटॉप बॉक्स

ऐसे बढ़ी बंदियों के बीच टकराव की संभावना

सोमवार को जेल के भीतर पुस्तकालय भवन में करीब पंद्रह लठैत बंदियों की एक मीटिंग हुई. जिसमें होली के नाम पर बंदियों के छह सप्ताह के मीट और दही की कटौती करने का फैसला लेकर जेल के सभी वार्डों में जाकर इस बात की सूचना दी गयी. सूचना मिलते ही सैकड़ों बंदी गोलबंद होकर इसका विरोध करने लगे. मामल् की जानकारी जेलर को भी दे दी गयी. जेलर ने मामले में कुछ भी सुनने से मना कर दिया. अब बंदियों ने बैठक कर इसका विरोध करने और वरीय अधिकारियों से पत्राचार के करने का निर्णय लिया. इसके पूर्व मकर सक्रांति और शिवरात्रि पूजा के नाम पर तीन सप्ताह के मीट और दही की कटौती कर ली गयी थी. उस समय विरोध के बाद आगे से सहमति से बीच का रास्ता निकालने की बात तय हुई थी.

इसे भी पढ़ेंः पूर्व सांसद प्रभुनाथ सिंह और सिंह मेंशन के रामाधीर सिंह को हजारीबाग जेल से दूसरे जेल में किया जायेगा शिफ्ट

पैसे की बंदरबांट के लिए सहमति पर नहीं हुआ अमल

भोजन कटौती को लेकर पूर्व में हुए विरोध के बाद इस बात को लेकर यह सहमति बनी थी मीट की जगह मुर्गा चलाया जाएगा क्योंकि मीट की तुलना में मुर्गे की कीमत लगभग पचीस प्रतिशत होती है. इससे पर्व-त्योहार के लिए खर्च भी निकल जाएगा और बंदियों को खाने में मांस भी मिल जायेगा. इस पर सहमति बनने के बाद भी इस बार लिये गये निर्णय पर अचानक बंदी भड़क गये और दो गुट में बंट गये हैं. टकराव की संभावना भी बन गयी है.

जेलर के करीबी बंदियों की बढ़ी मनमानी

वर्ष 2017 में जयप्रकाश नारायण केंद्रीय कारा में काफी उथल-पुथल चली. इसमें कई जेल कर्मियों के अलावे तत्कालीन काराधीक्षक रूपम प्रसाद को कार्रवाई का सामना करना पड़ा. कई गैंगस्टरों को दूसरे जेल भी भेजा गया. इनसब घटनाक्रमों के बीच जेलर पर कोई कार्रवाई नहीं होने से सवाल भी उठा था. कुछ समय सब ठीक-ठाक चला. अब पुनः जेल के भीतर जेलर के करीबी बंदियों की मनमानी बढ़ गयी है. सभी को फिर से वार्ड इंचार्ज बनाया जा रहा है. इनके माध्यम से अवैध वसूली और भोजन कटौती के नाम पर लाखों रुपए के खेल खेले जाने का योजना बनाने की संभावना है. इसी वजह से आम बंदियों और दूसरे गुट के बंदियों ने गोलबंद होकर इसका विरोध करना शुरू कर दिया है. फिलहाल काराधीक्षक हामिद अख्तर से इस बाबत पूछे जाने उन्होंने कहा कि किसी के साथ भी किसी तरह का अन्याय नहीं होने दिया जायेगा.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

7ocean

 

international public school

 

TOP STORY

बिहार के माथे पर एक और कलंक, चपरासी ने 8,000 रुपये में कबाड़ी को बेची थी 10वीं परीक्षा की कॉपियां

स्वच्छता में रांची को मिले सम्मान पर भाजपा सांसद ने ही उठाये सवाल, कहा – अच्छी नहीं है कचरा डंपिंग की व्यवस्था

तो क्या ऐसे 100 सीटें बढ़ायेगा रिम्स, न हॉस्टल बनकर तैयार, न सुरक्षा का कोई इंतजाम, निधि खरे ने भी लगायी फटकार

पत्थलगड़ी समर्थकों ने किया दुष्कर्म, फादर सहित दो गिरफ्तार, जांच जारीः एडीजी

स्वच्छता सर्वेक्षण की सिटीजन फीडबैक कैटेगरी में रांची को फर्स्ट पोजीशन, केंद्रीय मंत्री ने किया पुरस्कृत

J&K: बीजेपी विधायक की पत्रकारों को धमकी, कहा- खींचे अपनी एक लाइन

दुनिया की सबसे बड़ी ऑनलाइन मेगा परीक्षा कराने जा रही है रेलवे, डेढ़ लाख लोगों को मिलेगा रोजगार

“महिला सिपाही पिंकी का यौन शोषण करने वाले आरोपी को एसपी जया रॉय ने बचाया, बर्खास्त करें”

यूपीः भीषण सड़क हादसे में एक ही परिवार के पांच लोगों की मौत

सरकार जमीन अधिग्रहण करेगी और व्यापक जनहित नाम पर जमीन का उपयोग पूंजीपति करेगें : रश्मि कात्यायन

16 अधिकारियों का तबादला, अनिश गुप्ता बने रांची के एसएसपी, कुलदीप द्विवेदी गए चाईबासा