BCCI के कार्यवाहक अध्यक्ष सीके खन्ना, सचिव अमिताभ चौधरी और कोषाध्यक्ष अनिरूद्ध चौधरी को हटाने की अनुशंसा

Publisher NEWSWING DatePublished Fri, 03/09/2018 - 12:51

New Delhi : बीसीसीआई के वर्तमान पदाधिकारियों के साथ टकराव के बीच प्रशासकों की समिति (सीओए) ने गुरुवार को उनकी बर्खास्तगी की मांग की. सीओए का कहना है कि बीसीसीआई संविधान के अनुसार इन पदाधिकारियों का कार्यकाल समाप्त हो चुका है. सीओए ने सुप्रीम कोर्ट से इसके साथ लोढ़ा समिति की सिफारिशों के अनुरूप नये संविधान को औपचारिक तौर पर अपनाये बिना एजीएम के लिये भी निर्देश देने की अपील की.

इसे भी पढ़ें- अंतरराष्ट्रीय महिला दिवसः 25 हजार महिलाओं के बीच सीएम ने की कई लाभकारी घोषणाएं, 1100 करोड़ का सौंपा चेक

नये पदाधिकारियों का चुनाव करवाने की सिफारिश

विनोद राय और डायना एडुल्जी के दो सदस्यीय सीओए पैनल ने गुरुवार को हाई कोर्ट में अपनी आठवीं स्थिति रिपोर्ट सौंपी जिसमें उन्होंने कार्यवाहक अध्यक्ष सीके खन्ना, कार्यवाहक सचिव अमिताभ चौधरी और कोषाध्यक्ष अनिरूद्ध चौधरी को हटाकर नये पदाधिकारियों का चुनाव करवाने की सिफारिश की. सीओए ने इसके साथ ही आईपीएल अध्यक्ष राजीव शुक्ला को भी बर्खास्त करने के लिये कहा क्योंकि उनका भी कार्यकाल समाप्त हो गया है.

इसे भी पढ़ें- 12 हजार की नौकरी के लिए गये थे मलेशिया - अब भूखे मरने की नौबत, तीन महीने से एम्बेसी में फंसे, सुध लेने वाला कोई नहीं

बीसीसीआई पदाधिकारियों और सीओए के बीच निचले स्तर पर पहुंचें रिश्ते

बीसीसीआई पदाधिकारियों और सीओए के बीच रिश्ते काफी निचले स्तर पर पहुंच गये हैं. सुप्रीम कोर्ट से नियुक्त समिति जहां लोढ़ा सुधारों को लागू करने में लगातार देरी करने के लिये पदाधिकारियों पर दोष मढ़ रही है वहीं पदाधिकारियों का मानना है कि राय एंड कंपनी को शीर्ष अदालत ने जो अधिकार सौंपे हैं वे उस दायरे से बाहर निकल रहे हैं.

इसे भी पढ़ें-  कुर्मी को आदिवासी में शामिल करने की अनुशंसा करने वाले नेताओं को 2019 में नेस्तानाबूद कर देंगे - जयस (देखें वीडियो)

सीओए ने अपनी रिपोर्ट में क्या कहा है

सीओए ने अपनी रिपोर्ट में बीसीसीआई संविधान के नियम 15 (आई) का हवाला देते हुए कहा कि पदाधिकारियों और उपाध्यक्षों का चुनाव बोर्ड की हर साल होने वाली एजीएम में किया जायेगा. इस तरह से चुने गये पदाधिकारी और उपाध्यक्ष तीन साल तक अपने पद पर रहेंगे. सीओए ने चेन्नई में मार्च 2015 में बीसीसीआई की 85वीं एजीएम में चुने गये पदाधिकारियों की पूरी सूची भी इसमें जोड़ी है जिसमें जगमोहन डालमिया को अध्यक्ष चुना गया था. इस तरह से वर्तमान संविधान के अनुसार एजीएम में चुने गये सभी पदाधिकारियों का कार्यकाल एक मार्च 2018 को समाप्त होगा. इसके बाद अगले ढाई वर्ष में डालमिया का निधन हो गया जबकि शशांक मनोहर ने इस्तीफा दे दिया और अनुराग ठाकुर को शीर्ष अदालत ने बर्खास्त कर दिया था. खन्ना को वरिष्ठ उपाध्यक्ष होने के कारण कार्यवाहक अध्यक्ष बनाया गया, जबकि अमिताभ चौधरी संयुक्त सचिव थे इसलिए उन्होंने सचिव पद संभाला. शीर्ष अदालत के दो जनवरी 2017 के फैसले के अनुसार अनिरूद्ध पहले की तरह कोषाध्यक्ष बने रहे.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

7ocean

 

international public school

 

TOP STORY

भूमि अधिग्रहण पर आजसू का झामुमो पर बड़ा हमला, मांगा पांच सवालों का जवाब

सूचना आयोग में अब वीडियो कांफ्रेंसिंग से होगी सुनवाई, मोबाइल ऐप से पेश कर सकते हैं दस्तावेज

झारखंड को उद्योगपतियों के हाथों में गिरवी रखने की कोशिश है संशोधित बिल  :  हेमंत सोरेन

जम्मू-कश्मीर : रविवार से आतंकियों व अलगाववादियों के खिलाफ शुरु हो सकता है बड़ा अभियान

उरीमारी रोजगार कमिटी की दबंगई, महिला के साथ की मारपीट व छेड़खानी, पांच हजार नगद भी ले गए

विपक्ष सहित छोटे राजनीतिक दलों को समाप्त करना चाहती है केंद्र सरकार : आप

बॉडी गार्ड की चाहत में जिप अध्यक्ष ने खुद पर करवायी फायरिंग, पकड़े गए अपराधियों ने किया खुलासा

गोड्डा मॉब लिंचिंग : सांसद निशिकांत ने कहा प्रशासन ने सही किया या गलत पता नहीं, लेकिन केस लड़ने के लिए आरोपियों की करेंगे मदद

समय पर बिजली बिल नहीं मिला तो लगेगा 420 वोल्ट का झटका, जेबीवीएनएल को नहीं कोई फिकर

पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में मानवाधिकार उल्लंघन पर मानवाधिकार परिषद लेगी फैसला : यूएन 

शुजात बुखारी को उनके पैतृक गांव में दफनाया गया, जनाजा में बड़ी संख्या में उमड़ी थी भीड़