Skip to content Skip to navigation
नई दिल्ली : हिन्दू लड़की मुस्लिम लड़का। मुहब्बत.. और फिर साम्प्रदायिक दंगे। पश्चिमी यूपी में लव जिहाद को लेकर माहौल गर्म है। करीब साठ सांप्रदायिक टकराव हो चुके हैं। मदरसे निशाने पर हैं क्योकि आरोप ये...

Home

रांची: राष्ट्रीय स्तर की शूटिंग चैंपियन तारा शाहदेव की कथित शादी और धर्म-परिवर्तन की कोशिश के खिलाफ...
पटना: बिहार में विधानसभा की दस सीटों के उपचुनाव में जनता दल यूनाइटेड (जदयू) राष्ट्रीय जनता दल (राजद)...

नयी दिल्ली: यूपीए सरकार के बारे में पूर्व नौकरशाहों के खुलासे के बाद अब पूर्व सीएजी विनोद राय ने...

इस्लामाबाद: सचिव स्तर की बातचीत रद्द करने के भारत के फैसले पर पाकिस्तान ने कड़ी प्रतिक्रिया दी है...

मुंबई: 51वां फेमिना मिस इंडिया 2014 का खिताब जीतने वाली जयपुर की कोयल राणा वह कहती हैं कि उनका अग...

मुंबई: बॉलीवुड सुपरस्टार्स मनीष मल्होत्रा के शो ‘Men for Mijwan’ के लिए रैंप वॉक करते हुए दिखाई द...

फिल्म सिंघम में करीना कपूर अजय देवगन से मजाक में ही सही एक ख्वाहिश जाहिर करती हैं। लेडी सिंघम बनन...

नई दिल्ली: इंग्लैंड के हाथों शर्मनाक तरीके से सीरीज गंवाने के बाद चारों तरफ से आलोचना झेल रहे भार...


CLICK HERE

News Wing (Weekly)+

रांची: न्यूज विंग साप्ताहिक का नया अंक बाजार में आ गया है। इस अंक की कवर स्टोरी है, हेमन्त सरकार पर...

 

देख अपनी ओर

(पंकज श्रीवास्तव की एक और पुस्तक ...पुस्तक का अंश..)

.. अपनी ओर देखने की फुर्सत किसे है? दुनियादारी की व्यस्तताओं में सब रचे-पचे हैं। सब इस नषे के आदी हो चुके हैं। मौका ही नहीं मिलता की कभी अपनी ओर भी देखें। अपनी ओर देखने वाले बिरले हैं। पांचों खिड़कियों से बाहर देखते-देखते बाहर की दुनिया स्वाभाविक लगने लगती है। ताउम्र बाहर ही खिचे रहते है। इस बेहोषी में उम्र तमाम हो जाती है। गजब की नषीली है यह दुनियादारी। अपनी ओर देखने का होष शायद ही किसी को हो पाता है।  अपने स्वरूप की झलक कभी कभार हर इन्सान को मिला करती है परन्तु कोई बिरला ही इसे समझ पाता है और समझ कर उसमें टिक पाता है।..  पूरी पुस्तक यहां डाउनलोड कीजिए [FREE]